- सरकारी व प्राइवेट नर्सरियों से प्लांट्स जुटाने पर जुटा विभाग

- नर्सरीज से मिलने वाले प्लांट्स में अधिकतर फ्रूट्स के पौधे शामिल

देहरादून, रिस्पना पुनर्जीवन अभियान के तहत 22 जुलाई को रिस्पना कैचमेंट एरिया में 2.5 लाख पौधों के प्लांटेशन को लेकर वार फुटिंग पर तैयारी की जा रही है. उद्यान विभाग 1.6 लाख पौधों का इंतजाम कर चुका है. सरकारी के साथ ही प्राइवेट नर्सरीज से पौधे जुटाए गए हैं. जिन्हें उद्यान निदेशालय से वितरित किया जाएगा.

लगाए जाएंगे फलदार पौधे

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा अभियान के तहत अधिक से अधिक फलदार पौधे लगाने के निर्देश दिए गए हैं. प्लांटेशन कैंपेन में शामिल होने के लिए लोगों से अपील की गई है. स्कूल-कॉलेज के स्टूडेंट्स इस कैंपेन का हिस्सा बनेंगे और कई संगठन भी इसमें शिरकत करेंगे.

ये प्लांट लगाए जाएंगे

आम:-दशहरी, चौंसा, लंगडा, आम्रपाली.

अमरूद:-एल-49, इलाहाबादी सफेदा, श्वेता, ललित.

आंवला:-एन-7, एन-9, एन-10, चकैइया.

अनार कलमी:-कंधारी, भगवा, सिंदूरी.

नींबू कलमी:-मौसंबी बडेड, नागपुरी, किन्नौ, चवन्नीछाप.

कटहल:-बीजू

कागजी नींबू:-बीजू.

----------

पौधे---क्वांटिटी.

आम--39 हजार.

अमरूद--30 हजार.

आंवला--15 हजार.

अनार--17 हजार.

नींबू--17 हजार.

कटहल--12 हजार.

कागजी नींबू- 30 हजार.

इन नर्सरीज से आवंटित होंगे पौधे

-बिष्ट नर्सरी, बैरागीवाला, दून.

-अमर नर्सरी, विकासनगर.

-विवेक नर्सरी, ज्वालापुर.

-भटनानगर नर्सरी नेपाली फार्म.

-निर्मल नर्सरी, हर्बटपुर.

-राकेश ओबराया नर्सरी दुधई.

-राजकीय उद्यान ढ़करानी.

-शर्मा नर्सरी, त्यूणी.

-ग्रीन हिमालय नर्सरी, विकासनगर.