- ड्रोन की मदद से आंकलन किया जा रहा बदहाली का

- जल्द ही गाजियाबाद से दो उद्यान विशेषज्ञ आएंगे

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW :

आखिरकार इंतजार खत्म हुआ. एलडीए को रिवर फ्रंट का करीब 12 एकड़ का क्षेत्र मिल गया. जिसके बाद एलडीए की ओर से ड्रोन की मदद से बदहाली को सामने लाने की कवायद शुरू कर दी गई. वहीं एक दो दिन के अंदर इसे संवारने का काम भी शुरू कर दिया जाएगा. यह भी जानकारी सामने आई है कि रिवर फ्रंट को संवारने के लिए जल्द ही गाजियाबाद से दो उद्यान विशेषज्ञ आएंगे.

वीडियोग्रॉफी-फोटोग्राफी

एलडीए की ओर से पहले तो 12 एकड़ की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी. इस कार्य के दौरान उद्यान उद्यान अधीक्षक खुद मौजूद रहेंगे. इसके साथ ही यह भी पड़ताल की जाएगी कि प्लांटेशन की क्या स्थिति है. इसके आधार पर प्लांटेशन को लेकर भी कदम उठाए जाएंगे. एलडीए ने जो प्लानिंग की है, उससे साफ है कि रिवर फ्रंट के बागवानी क्षेत्र को बेहद खूबसूरत बनाने की तैयारी है. इसके लिए कई चरणों में कवायद की जाएगी. इस कवायद में बागवानी क्षेत्र में पौधरोपण किया जाना भी शामिल है. ऐसे पौधे भी लगाए जाएंगे, जिनके फूलों से पूरा माहौल महक उठेगा साथ ही ऐसे पौधे भी लगाए जाएंगे, जिनसे पर्यावरण संरक्षित रहेगा.

सिंचाई विभाग ने दिया 27.35 करोड़

जानकारी के अनुसार, रिवर फ्रंट के हार्टिकल्चर एरिया को डेवलप करने के लिए सिंचाई विभाग की ओर से एलडीए को 27.35 करोड़ रुपये दिए गए हैं. बता दें कि रिवर फ्रंट लंबे समय से बदहाल है. इतना ही नहीं, बदहाली के कारण रिवर फ्रंट आने वाले लोगों की संख्या दिन प्रतिदिन घटती जा रही है. हाल में ही शासन स्तर पर हुई मीटिंग में यह तय हुआ है कि रिवर फ्रंट का बागवानी एरिया एलडीए को दिया जाए. मतलब एलडीए की ओर से उक्त एरिया में सफाई, सुरक्षा आदि की व्यवस्था की जाएगी. जिसके बाद ही एलडीए की ओर से प्रस्ताव तैयार कराया गया है.

आज मिला 12 एकड़

जानकारी के अनुसार, सिंचाई विभाग की ओर से एलडीए को रिवर फ्रंट का हस्तांतरण मंगलवार से शुरू कर दिया गया. पहले दिन करीब 12 एकड़ का एरिया एलडीए को दिया गया है. हालांकि दो दिन पहले से ही एलडीए की ओर से ड्रोन की मदद से रिवर फ्रंट की बदहाली की रिपोर्ट तैयार कराने का काम शुरू कर दिया गया था.

शासन से होना है निर्णय

एलडीए के पास उद्यान विशेषज्ञों की कमी है. मैन पॉवर कम होने का असर रिवर फ्रंट को संवारने पर दिख सकता है. इसे ध्यान में रखते हुए एलडीए की ओर से प्रयास किया जा रहा है कि गाजियाबाद से दो उद्यान विशेषज्ञ लखनऊ बुला लिए जाएं.

रबड़ डैम के पास से स्टार्ट

एलडीए की ओर से रिवर फ्रंट के रबड़ डैम (एसपी नॉर्थ ऑफिस के पास) की ओर से मेंटीनेंस संबंधी कवायद शुरू की गई है. जैसे-जैसे एलडीए के पास रिवर फ्रंट का एरिया आता रहेगा, उसी आधार पर मेंटीनेंस का काम शुरू कराया जाएगा.

एलडीए को रिवर फ्रंट का करीब 12 एकड़ का एरिया मिला है. हमारी ओर से पहले तो ड्रोन की मदद से वर्तमान स्थिति का पता लगाया जा रहा है और एक दो दिन के अंदर मेंटीनेंस का कार्य शुरू करा दिया जाएगा.

एसपी सिसोदिया, उद्यान अधीक्षक, एलडीए