-रिवर राफ्टिंग नियमावली को कैबिनेट ने दी मंजूरी

- धार्मिक स्वतंत्रता एक्ट में संशोधन के प्रस्ताव को भी मंजूरी

देहरादून, सरकार ने रीवर रॉफ्टिंग, क्याकिंग, कनोइंग नियमावली को और अधिक व्यवहारिक बनाया गया है. रिवर रॉफ्टिंग व्यवसाय में उत्तराखंड के ही लोगों को मौका मिलेगा. रॉफ्टिंग के दौरान धूम्रपान व नशा पूरी तरीके से प्रतिबंधित होगा. बुधवार को कैबिनेट की बैठक वहीं, कैबिनेट ने छल-कपट आदि की संभावना को देखते हुए धर्मिक स्वतंत्रता अधिनियम में संशोधन के प्रस्ताव को भी हरी झंडी दे दी है. पुलिस कार्मिकों की विभिन्न संवगरें की सेवा नियमावली को भी मंजूरी दी गई है.

पुलिस सेवा नियमावली

बुधवार को हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए. कैबिनेट के फैसलों की जानकारी देते हुए काबीना मंत्री प्रकाश पंत ने बताया कि विधानसभा में धारित धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम में कुछ संशोधन प्रस्तावों को मंजूरी दी गई है. छल-कपट व अन्य विधि विरुद्ध कार्य करने वाली संस्थाओं का पंजीकरण कैंसल करने का प्रावधान जोड़ा गया है. उन्होंने बताया कि पुलिस आरक्षी एवं मुख्य आरक्षी सेवा नियमावली को मंजूरी दी गई है. नियमावली के मुताबिक भर्ती प्रक्त्रिया के साथ मुख्य आरक्षी पद पर 50 प्रतिशत नियुक्ति ज्येष्ठता के आधार पर पदोन्नति से और 50 प्रतिशत पद विभागीय परीक्षा के आधार पर भरे जाएंगे. पुलिस घुड़सवार दल सेवा नियमावली को भी कैबिनेट ने स्वीकृति दी है. इसके तहत आरक्षी, मुख्य आरक्षी व उप निरीक्षक के पदों पर भर्ती प्रक्रिया निर्धारित की गई है. कैबिनेट ने पुलिस मोटर परिवहन शाखा की सेवा नियमावली को भी मंजूरी मिल गई है.

शहीदों को श्रद्धांजलि

कैबिनेट की बैठक में तमिलनाडु के पूर्व सीएम व डीएमके के नेता एम करूणानिधि के साथ ही जम्मू-कश्मीर में शहीद हुए सैनिक हमीर पोखरियाल और मनदीप रावत को भी श्रद्धांजलि दी गई.