SARAIKELA: सरायकेला-कांड्रा मेर रोड पर सरायकेला गेस्ट हाउस स्थित डीडीसी आवास के सामने शुक्रवार देर रात चाईबासा से आ रही बोलेरो और ट्रक की भिडंत हो गई. दुघर्टना में बोलेरो सवार पांच विद्युत कर्मियों की मौत हो गई. जबकि चालक की हालत गंभीर बनी हुई है.

सरायकेला-आदित्यपुर रोड पर 23 डेंजर जॉन चिन्हित किए गए हैं, जिसमें सरायकेला गेस्ट हाउस के सामने भी एक है. शुक्रवार देर रात झारखंड उर्जा संचारण निगम लिमिटेड टी एंड सी प्रमंडल जमशेदपुर के सहायक अभियंता अमित दुबे, कनीय अभियंता विपिन बिहारी सिंह, टेक्नीशियन गणेश महतो, स्किल्ड खलासी रंजित कुमार चौधरी व कर्मचार पारस चेतंबा बोलेरो से चाईबासा के खप्प्रसाई ग्रीड गए थे. सभी बोलेरो (जेएस 05सीबी 3638) से चालक शंकर लोहार के साथ गए थे. ग्रीड में नया ट्रांसफार्मर लगाने के बाद उसकी टेस्टिंग कर चालू करने के बाद रात लगभग चाईबासा से वापस जमशेदपुर आ रहे थे. सरायकेला गेस्टहाउस में डीडीसी आवास के पास ओवरटेक करते समय सामने से आ रहे ट्रक (ओआर 09पी 9804) से सीधी भिडं़त हो गई ट्रक की स्पीड तेज होने से बोलेरो का आधा हिस्सा ट्रक के अंदर घुस गया. जिससे बोलेरो बुरी तरह से चकनाचूर हो गई.

मौके पर पहुंचे अधिकारी

घटना की सूचना मिलते ही थाना प्रभारी रण विजय सिह एंबुलेंस व पुलिस बल के साथ पहुंचे. सूचना पाते ही उपायुक्त छवि रंजन, पुलिस अधीक्षक चंदन सिन्हा व एसडीओ संदीप दुबे भी पहुंचे. बोलेरो के ट्रक में घुसने के कारण गैस कटर की सहायता से लगभग दो घंटे बाद बोलेरो में घुसा जा सका जहां सहायक अभियंता अमित दुबे, कनीय अभियंता विपिन बिहारी सिंह, टेक्निशिशन गणेश महतो व स्कीलड खलासी रंजित कुमार चौधरी मृत अवस्था में मिले, जबकि विद्युत कर्मी पारस चेतंबा व चालक शंकर लोहार गंभीर थे.

एक की रास्ते में मौत

दोनों घायलों को एंबुलेंस से सदर अस्पताल भेजा गया जहां प्राथमिक उपचार के बाद दोनों को एमजीएम अस्पताल भेज दिया गया लेकिन रास्ते में ही घायल पारस चेतंबा की मौत हो गई जबकि चालक शंकर लोहार को एमजीएम से टीएमएच रेफर कर दिया गया. जहां पर चालक की स्थित गंभीर है. पुलिस ने ट्रक चालक के विरुद्ध मामला दर्ज कर ट्रक व क्षतिग्रस्त बोलेरो को कब्जे में ले लिया जबकि चारों के शवों को पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिया.