-कॉलेज आते समय कार की टक्कर से घायल छात्रा की गई जान, कॉलेज प्रबंधन पर एफआईआर

-गुस्साए घरवाले शव लेकर पहुंचे कॉलेज, तोड़फोड़ करने के साथ स्टाफ से की हाथापाई

बरेली:

फतेहगंज पूर्वी के गांव उचसिया स्थित नर्सिग छात्रा को वेडनसडे सुबह कॉलेज से कुछ दूरी पर कार ने टक्कर मार दी। जिससे छात्रा घायल हो गई। कॉलेज प्रबंधन ने छात्रा को हॉस्पिटल भेजा जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। छात्रा की मौत की जानकारी परिजनों को मिली तो वह आक्रोशित हो गए। उन्होंने कॉलेज पहुंचकर स्टाफ से मारपीट कर कॉलेज में तोड़फोड़ की। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और हंगामा कर रहे लोगों को समझाकर शांत कराया। परिजनों ने कॉलेज प्रबंधन पर समय से इलाज न कराने और हादसे की सूचना नहीं देने का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई है। वहीं कॉलेज प्रबंधन की ओर से भी तोड़फोड़ करने के आरोप में तहरीर दी गई है।

काफी देर तक तड़पती रही

शाहजहांपुर कटरा थाना क्षेत्र के गांव भमोरी निवासी श्वेता यादव पत्नी जितेंद्र सिंह उचसिया स्थित विद्या नर्सिग कॉलेज में जीएनएम का कोर्स कर रही थीं। वेडनसडे सुबह जब वह कॉलेज आ रही थीं तो कॉलेज से कुछ ही दूरी पर एक कार ने टक्कर मार दी, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गई। काफी देर तक छात्रा सड़क पर पड़ी तड़पती रही। इसके बाद कॉलेज प्रबंधन ने छात्रा को शहर के हॉस्पिटल भेजा जहां पर उसकी मौत हो गई। जब छात्रा का शव घर पहुंचा तो परिजनों में कोहराम मच गया। परिजनों का आरोप था कि कालेज स्टाफ ने उनको किसी प्रकार की कोई जानकारी नहीं दी। परिजनों ने घायल छात्रा का इलाज तक नहीं कराने का आरोप लगाया। नाराज परिजन शव लेकर कालेज आ गए। जहां जमकर प्रदर्शन कर तोड़फोड़ की। कालेज स्टाफ के साथ हाथापाई भी की गई। स्टाफ ने पुलिस को सूचना दी तो सीओ रामानंद राय, कोतवाल फरीदपुर समेत फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। सीओ ने समझाकर लोगों को शांत कराया।

कॉलेज प्रशासन ने दी तहरीर

छात्रा के परिजनों की ओर से कालेज प्रबंधक व स्टाफ के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। वहीं कॉलेज की प्रधानाचार्य पी वेगलानी ने बताया छात्रा की मौत का दुख है। हमने घायल छात्रा को हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। परिजनों को सूचना भी दी थी, उसके बावजूद छात्रा के परिजनों ने कॉलेज में हंगामा किया और तोड़फोड़ भी की। कालेज प्रबंधन की ओर से तहरीर दी गई है।

वर्जन

-मामले में छात्रा के परिजनों की ओर से रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है।

रामानंद राय, सीओ फरीदपुर