- एक हफ्ते में 7 लोगों ने सड़क हादसों में गंवाई जान

- पटेल नगर इलाके में हुए हादसे में घायल दूसरे युवक ने भी तोड़ा दम

- दून में लगातार बढ़ रहे हैं सड़क हादसे

DEHRADUN: राजधानी में सड़क हादसे रोज एक जान ले रहे हैं. ये सिलसिला एक हफ्ते से चल रहा है. एक हफ्ते में सात लोगों ने सड़क हादसों में अपनी जान गंवा दी है. इधर शुक्रवार की रात को भी पटेलनगर इलाके में एक सड़क हादसे में एक युवक की जान चली गई.

बाइक-स्कूटी की हुई थी भिड़ंत

दून में सड़क हादसों पर लगाम नहीं लग रही. शुक्रवार की रात थाना पटेल नगर इलाके में शिमला बाईपास रोड पर मोटर साइकिल व स्कूटी की भिड़ंत में स्कूटी सवार की मौत हो गई थी. जबकि मोटर साइकिल सवार को गंभीर हालत में महंत इंदिरेश अस्पताल में भर्ती कराया गया था. घायल मोटर साइकिल सवार शादाब पुत्र इमरान निवासी सिंहनीवाला थाना सहसपुर देहरादून ने उपचार के दौरान महंत इंदिरेश अस्पताल में दम तोड़ दिया.

अगस्त में सबसे ज्यादा हादसे

अगस्त के महीने में दून में सड़क हादसों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है. जुलाई के महीने तक दून में ब्ब् मौत सड़क हादसों में हुई थी. दून में सड़क हादसों की सबसे बड़ी वजह तेज रफ्तार, सड़क के गढ्डे और हेलमेट न पहनना सामने आई है. पुलिस लगातार इसके लिए अवेयरनेस कैंपेन भी चला रही है, लेकिन हादसों पर लगाम नहीं लग पा रही.

पटेल नगर में सबसे ज्यादा मौतें

ट्रैफिक पुलिस से मिले तीन साल के आंकड़ों पर नजर डालें तो शहर के पटेल नगर इलाके में सबसे ज्यादा सड़क हादसों में मौत के मामले देखे गये हैं. फ् साल में इस इलाके में हुई सड़क दुर्घटनाओं में म्ब् लोगों ने अपनी जान गंवाई है. इसके अलावा नेहरू कॉलोनी थाने में ख्9, डालनवाला में क्9, रायपुर ख्ख्, बसंत विहार ख्0, कैंट ख्0 राजपुर से मसूरी के बीच ख्0 लोगों ने अपनी जान गंवाई है.

---------

बरसात के दिनों में गाडि़यों के मैकेनिकल सिस्टम में गड़बड़ी आ जाती है. बरसात के दिनों में गडि़यों को बार-बार चेक कराते रहना चाहिए और जहां भी असुविधा लगे रुक जाना चाहिए.

धीरेन्द्र गुंज्याल, एसपी ट्रैफिक

आंकडे--

फ्क् जुलाई ख्0क्7 तक

हादसे-क्फ्फ्

मौत - ब्ब्

गम्भीर घायल - 77

ख्0क्म्

हादसे- ख्9फ्

मौत- क्फ्क्

घायल- ख्क्फ्