-एक यात्री ने यूपी पुलिस के ट्विटर अकाउंट पर की शिकायत

-पुलिस ने रोडवेज के आरएम को फॉरवर्ड की शिकायत

बरेली- रोडवेज बस चालकों की लापरवाहीं से अक्सर ही हादसे होते रहते हैं, लेकिन उनका विभाग यह मानने को तैयार नहीं है. रोडवेज अधिकारियों की दरियादिली ही है जो उन्होंने अपनी रिपोर्ट में ड्राइवर की गलती न होने की बात बताई थी, लेकिन इस मामले से साफ जाहिर होता है कि अधिकतर हादसे ड्राइवरों की लापरवाही से ही होते है. जानकारी के मुताबिक, पुलिस के ट्विटर अकाउंट पर एक यात्री ने बस दौड़ाते हुए ड्राइवर की फोन पर बात करते हुए फोटो शेयर कर शिकायत की है और आरोपी ड्राइवर पर कार्रवाई की मांग की है. यूपी पुलिस से बरेली पुलिस को शिकायत फॉरवर्ड की गई, जिसके बाद बरेली पुलिस ने रोडवेज के आरएम को फोन पर शिकायत बता दी है.

50 सवारियां थीं बस में

नितिश गुप्ता ने सैटरडे को की गई शिकायत में बताया है कि वह बरेली से मुरादाबाद रुहेलखंड डिपो की यूपी 25 2616 नंबर की बस में सफर कर रहा था. वहीं बस का ड्राइवर लगातार फोन पर बात कर रहा था. बस में उस समय 50 सवारियां बैठी थीं. सवारियों ने उसे बात करने से रोका, लेकिन वह नहीं माना. ऐसे में कोई बड़ा हादसा भी हो सकता था. नितिश ने यूपीएसआरटीसी बरेली, यूपी परिवहन और परिवहन मिनिस्टर के ट्विटर अकाउंट पर भी शिकायत की है.

पहले लिए जाते थे एक्शन

यूपी परिवहन की ओर से ट्विटर अकाउंट पर ड्राइवर के फोन पर बात करने, मिसबिहेव करने व अन्य की शिकायत मिलने पर एक्शन लिया जाता था. यही नहीं शिकायत करने वाले यात्री को इनाम भी दिया जाता था, लेकिन धीरे-धीरे यहां भी सब पुराने ढर्रे पर चल पड़ा है.