कानपुर। पिछले कुछ सालों से टीम इंडिया की ओपनिंग जोड़ी की मजबूत कड़ी बन चुके रोहित शर्मा के करियर का आगाज काफी धीमा था। साल 2007 में आयरलैंड के खिलाफ वनडे डेब्यू करने वाले रोहित को अपना पहला वनडे शतक लगाने के लिए 42 मैचों का इंतजार करना पड़ा। इसकी बड़ी वजह थी उनका बल्लेबाजी क्रम। करियर के शुरुआती दिनों में रोहित नंबर तीन से लेकर नंबर सात तक बैटिंग करते थे। उस दौर में ओपनिंग की जिम्मेदारी सचिन, सहवाग और गंभीर के कंधो में थी। ऐसे में रोहित को बड़ी पारी खेलने का मौका नहीं मिल पाया। वहीं लगातार फ्लाॅप हो जाने के कारण वह टीम से अंदर-बाहर भी होते रहे।
रोहित शर्मा के जीवन में ये दो खिलाड़ी रहे मददगार,एक ने बदला करियर तो दूसरे ने दिलाया प्यार
धोनी के इस फैसले से बदला करियर

साल 2012 में जब वीरेंद्र सहवाग का करियर ढलान पर आ गया तब टीम इंडिया को एक दाएं हाथ के ओपनर की जरूरत पड़ी। उस वक्त टीम इंडिया के कप्तान एमएस धोनी थे। धोनी का लगा रोहित जिस तरह से बैटिंग करते हैं, उनकी जगह निचले क्रम में नहीं बल्कि ओपनर की है। फिर क्या साल 2012 में रोहित पहली बार बतौर ओपनर मैदान में उतरे। इसके बाद रोहित ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। वह शतक पे शतक और तीन दोहरे शतक भी ठोंक गए। इसी के साथ धोनी के एक फैसले ने रोहित को हिटमैन बना दिया।
रोहित शर्मा के जीवन में ये दो खिलाड़ी रहे मददगार,एक ने बदला करियर तो दूसरे ने दिलाया प्यार
ऐसे चढ़े शिखर पर

करियर के शुरुआती 50 मैचों में रोहित ने 31.52 की औसत से सिर्फ 1135 रन बनाए थे, इसमें दो शतक शामिल हैं। वहीं 51 से 100 वनडे तक रोहित के बल्ले से 1345 रन निकले। इस दौरान रोहित ने कोई शतक नहीं बनाया। इसके बाद 101 से 150 मैचों तक रोहित ने 59.47 की एवरेज से 2557 रन बनाए, इसमें आठ शतक शामिल हैं। इसके बाद 151 से 199 मैचों के बीच हिटमैन के बल्ले से 67.37 की औसत से 2762 रन निकले। इसमें 12 शतक शामिल हैं। फिलहाल रोहित के नाम 206 वनडे मैचों में 47.39 की एवरेज से 8010 रन दर्ज हैं। जिसमें 22 शतक और 41 अर्धशतक हैं।
रोहित शर्मा के जीवन में ये दो खिलाड़ी रहे मददगार,एक ने बदला करियर तो दूसरे ने दिलाया प्यार
बतौर ओपनर दुनिया में सबसे ज्यादा औसत
क्रिकइन्फो पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, रोहित ने बतौर ओपनर 115 वनडे मैच खेले जिसमें उन्होंने 58.32 की औसत से 5832 रन बनाए। कम से कम 5000 रन को देखते हुए दुनिया में जितने भी ओपनर बल्लेबाज हैं उसमें रोहित का औसत सबसे ज्यादा है। इस लिस्ट में दूसरा नाम हाशिम अमला का है जिनका औस्त 50.42 है। वहीं सचिन तेंदुलकर 48.29 की औसत के साथ तीसरे नंबर पर हैं।
रोहित शर्मा के जीवन में ये दो खिलाड़ी रहे मददगार,एक ने बदला करियर तो दूसरे ने दिलाया प्यार
बतौर ओपनर तीन दोहरे शतक बनाने वाले इकलौते खिलाड़ी
बतौर ओपनर वनडे में तीन दोहरे शतक लगाने वाले रोहित शर्मा इकलौते खिलाड़ी हैं। इस दौरान उन्होंने 22 शतक ठोंके जिसमें तीन दोहरे शतक शामिल हैं।
रोहित शर्मा के जीवन में ये दो खिलाड़ी रहे मददगार,एक ने बदला करियर तो दूसरे ने दिलाया प्यार
युवी के जीजा हैं रोहित

रोहित का करियर बनाने का श्रेय जहां धोनी को जाता है वहीं पर्सनल लाइफ में उनके मददगार सिक्सर किंग युवराज सिंह हैं। रोहित शर्मा की पत्नी रितिका सजदेह क्रिकेटर युवराज सिंह की राखी सिस्टर है। युवी ने एक तस्वीर ट्विटर पर शेयर की थी जिसमें रितिका उन्हें राखी बांधती नजर आ रही थी। ऐसे में रोहित और रितिका के प्यार को अंजाम तक पहुंचाने में युवी ने भी खूब मेहनत की। बता दें दोनों ने साल 2015 में शादी की।
रोहित शर्मा के जीवन में ये दो खिलाड़ी रहे मददगार,एक ने बदला करियर तो दूसरे ने दिलाया प्यार

वर्ल्ड कप से पहले फाॅर्म में लौटा ये भारतीय, IPL में हर चौथी गेंद पर लगा रहा बाउंड्री

वर्ल्डकप से पहले ये चार भारतीय IPL में हुए 'आउट ऑफ कंट्रोल', अंपायर हैं परेशान


क्रिकेट मैदान पर किया था प्रपोज
रोहित शर्मा वर्ल्ड कप 2015 के दौरान 'मिस्ट्री गर्ल' को लेकर खासे चर्चा में थे। वह मिस्ट्री गर्ल कोई और नहीं, बल्कि रितिका थीं। दरअसल रितिका टीम इंडिया के होटल के पास ही एक अन्य होटल में रुकी थीं। रोहित और रितिका जब एकसाथ घूमने निकले तो मीडिया की नजर में आ गए। बाद में रोहित शर्मा ने अपनी हमसफर रितिका को खास अंदाज में प्रपोज किया। रोहित बताते हैं कि उन्‍होंने 28 अप्रैल को बोरीवली स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर रितिका के सामने शादी का प्रस्ताव रखा था। यह मैदान रोहित के लिए खास है, क्योंकि उन्होंने इसी मैदान से अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी। रोहित ने यहां से 11 साल की उम्र में करियर का पहला क्रिकेट मैच खेला था।
रोहित शर्मा के जीवन में ये दो खिलाड़ी रहे मददगार,एक ने बदला करियर तो दूसरे ने दिलाया प्यार

Cricket News inextlive from Cricket News Desk