मंगलवार से बंद हो सकता है पानी टंकी चौराहा से आवागमन, एडमिनिस्ट्रेशन ने शुरू की तैयारी

आप्शन के तौर पर मिलने वाले रास्ते इतने सक्षम नहीं यहां का ट्रैफिक लोड सहन कर सकें

एडीए ने हटवाया अतिक्रमण, सप्लाई डिपो होते या पुराना जीटी रोड से शहर में हो सकेगी इंट्री

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: शहर पश्चिमी वालों अपने वाहन खड़े कर दो. अब दो माह के लिए पैदल चलने की आदत डाल लो. कारण कि प्रशासन कभी भी शहर पश्चिमी से सिविल लाइंस साइड आने के लिए प्रमुख चौराहा (पानी टंकी चौक) पर ट्रैफिक रोक सकता है. प्रशासन यह निर्णय हाई कोर्ट के पास बन रहे फ्लाई ओवर का कार्य पूरा कराने के लिए लिए रहा है. इसके बाद आप्शन के तौर पर जो सड़कें सामने आएंगी, उनकी इतनी कूवत नहीं है कि वे यहां का ट्रैफिक लोड सह सकें. नतीजा ये होगा कि अब पूरे इलाके में जाम लगेगा और यदि आप वाहन लेकर निकले तो दिनभर इसी में फंसे रहेंगे.

चौफटका से पानी टंकी तक ब्लाक

पानी टंकी चौराहा से चौफटका व चौफटका से पानी टंकी चौराहा की तरफ आने-जाने का रास्ता एक-दो दिन बाद पूरी तरह से ब्लॉक कर दिया जाएगा. हालांकि इसकी तैयारी में रविवार को एडीए की टीम ने रास्ता खाली कराने के लिए अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया. इस दौरान कई मकानों व दुकानों पर बुल्डोजर चलाया गया. जोनल अधिकारी जयराम मौर्या के नेतृत्व में एडीए की टीम खुशरूबाग रोड होते हुए पुरानी जीटी रोड पर पहुंची. मछली बाजार के आस-पास व जीटी रोड पर पड़े मलवे को हटवाया गया. चौड़ीकरण की जद में आ रहे कुछ मकानों व दुकानों पर बुलडोजर चलाया गया. उन्होंने बताया कि पानी टंकी पर आवागमन बंद होने पर जाम से बचने के लिए ये कवायद की जा रही है.

रिस्क नहीं लेना चाहता एडमिनिस्ट्रेशन

वाराणसी में निर्माणाधीन फ्लाईओवर की बीम गिरने से कई लोगों की मौत से सबक लेते हुए सेतु निगम ने स्लैब व बीम का काम करने के लिए मार्ग पर आवागमन बंद कराने की तैयारी की है. निगम के अधिक ारियों ने इसे लेकर पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों से सहयोग मांगा है. सबने सहमति दे दी है. इसके तहत सात अगस्त से सात अक्टूबर तक पानी की टंकी से होकर जाने वाले कानपुर रोड पर आवागमन बंद कर दिया जाएगा.

प्रतिदिन गुजरते हैं हजारों वाहन

कानपुर रोड से प्रतिदिन हजारों वाहन गुजरते हैं. यहीं से कौशांबी जाने वाले लोगों का भी आवागमन होता है. जबकि राजरूपपुर, झलवा, धूमनगंज, खेलगांव, सूबेदारगंज, बमरौली एयरपोर्ट सहित अनेक क्षेत्रों के लोग प्रतिदिन यहीं से आते-जाते हैं.

बदले रूट से चलेंगे वाहन

पानी की टंकी के पास से आवागमन बंद होने पर लोगों को दूसरे मार्ग से आना-जाना होगा. कानपुर की तरफ से आने वाला ट्रैफिक सप्लाई डिपो तारापोर मोड़ से शहर आएगा. जबकि शहर से जाने वाला ट्रैफिक पुरानी जीटी रोड से होकर गुजरेगा.

यहां तक होगा काम

कानपुर रोड पर आवागमन बंद होने के बाद पानी की टंकी से करियप्पा गेट तक बीम व स्लैब डालने का काम पूरा किया जाएगा. इसमें 40 बीम व आठ स्लैब पड़ने हैं. एक बीम की लंबाई सवा 28 मीटर है. जबकि एक स्लैब 30 मीटर लंबा होगा.

सात अगस्त से दो माह तक पानी की टंकी से होकर कोई वाहन नहीं गुजरने पाएगा. आवागमन रोकने को पुलिस के जवान तैनात रहेंगे साथ ही कंकरीट का बैरियर लगाया जाएगा, ताकि मार्ग से कोई वाहन न गुजरने पाए. निर्धारित समय में सुरक्षा मानकों के साथ कार्य पूरा करने के लिए यह जरूरी है.

सतीश कुमार

परियोजना प्रबंधक, सेतु निगम

सात अगस्त से सात अक्टूबर तक पानी टंकी चौराहा से चौफटका जाने वाले रास्ते को बंद करने का निर्णय लिया गया था. रास्ता बंद करने से पहले खुशरूबाग का रास्ता ट्रैफिक लोड झेलने को फीट है कि नहीं, इसका सर्वे सोमवार को किया जाएगा. इसके बाद ही फाइनल होगा कि रास्ता कब से बंद किया जाए.

कुलदीप सिंह, एसपी ट्रैफिक