-आईजी आरपीएफ एसके सिंह ने जारी किया आदेश, एसओआर भी जारी

-एनसीआर हेडक्वार्टर से झांसी मंडल के लिए किया गया ट्रांसफर

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में फंसे आरपीएफ इंस्पेक्टर संजय पांडेय पर आखिरकार कार्रवाई की गाज गिर ही गई. सीबीआई लखनऊ के एंटी करप्शन टीम की छापेमारी की कार्रवाई के बाद गुरुवार को विभागीय कार्रवाई करते हुए आईजी आरपीएफ सुनील कुमार सिंह ने इंस्पेक्टर संजय पांडेय को सस्पेंड करते हुए एसओआर जारी किया. यही नहीं इंस्पेक्टर को एनसीआर हेडक्वार्टर से झांसी मंडल के लिए स्थानांतरित कर दिया गया.

ड्यूटी करने पर उठे थे सवाल

सीबीआई लखनऊ की एंटी करप्शन ब्रांच की टीम ने मंगलवार को आरपीएफ इंस्पेक्टर संजय पांडेय के लखनऊ, गोंडा, इलाहाबाद और दिल्ली स्थित आवास पर एक साथ छापा मारा था. एनसीआर हेडक्वार्टर में भी इंस्पेक्टर से संबंधित रिकार्ड और दस्तावेजों को खंगाला गया था. देर रात तक चली छापेमारी की कार्रवाई में सीबीआई टीम ने इंस्पेक्टर के रेल गांव स्थित आवास पर सख्ती से पूछताछ की. इसके बाद कांस्टेबल के घर से 14 लाख रुपये और बरामद हुए.

कार्रवाई के बाद भी की ड्यूटी

मंगलवार को सीबीआई टीम की छापेमारी के बाद भी आरपीएफ इंस्पेक्टर की सेहत पर कोई असर नहीं पड़ा. विभागीय स्तर पर भी कोई कदम नहीं उठाया गया. बुधवार को इंस्पेक्टर ने रोज की तरह ड्यूटी की. इसे लेकर सवाल उठाया गया. लेकिन रेलवे के अधिकारियों द्वारा गिरफ्तारी व हिरासत में लिए जाने की कार्रवाई होने व सीबीआई द्वारा लिखित कंप्लेन करने पर ही कार्रवाई की बात कही जा रही थी.

48 घंटे हिरासत का नियम?

एनसीआर के अधिकारी 48 घंटे के लिए पुलिस की हिरासत में होने के बाद ही किसी रेलवे कर्मचारी को सस्पेंड किए जाने के नियम का हवाला देते रहे. कार्रवाई के लिए हिरासत को जरूरी बताते रहे. गुरुवार दोपहर में डीजी रेलवे ने सीबीआई लखनऊ के एंटी करप्शन ब्रांच द्वारा आरपीएफ इंस्पेक्टर संजय पांडेय के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति मामले में दर्ज एफआईआर और फिर छापे की कार्रवाई के आधार पर ही इंस्पेक्टर संजय पांडेय को सस्पेंड कर दिया. साथ ही इंस्पेक्टर संजय पांडेय के खिलाफ एसओआर यानी स्पेशल आफरेंस रिपोर्ट भी जारी किया.

डीजी रेलवे के आदेश पर आरपीएफ इंस्पेक्टर संजय पांडेय के खिलाफ कार्रवाई की गई है. उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है. इसकी पुष्टी हो चुकी है.

गौरव कृष्ण बंसल

सीपीआरओ, एनसीआर