- सुबह आठ बजे ही वेबसाइट पर रिजल्ट और आंसर-की किया अपलोड

- स्कोर में कमी लगने पर अभ्यर्थी 23 मई तक डाल सकेंगे आपत्ति

bareilly@inext.co.in
BAREILLY : उत्तर प्रदेश बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट और आंसर-की आरयू ने ट्यूजडे सुबह आठ बजे अपनी वेबसाइट पर अपलोड कर दिया। यूपी बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा को-आर्डिनेटर प्रो। बीआर कुकरेती ने बताया कि इस बार जारी किए गए दोनों पेपर्स के स्कोर में किसी अभ्यर्थी को कोई कमी लगती है तो वह 23 मई तक आपत्ति दर्ज करा सकता है, जिससे ग्रीवांस को दूर किया जा सके। फाइनल रैंक 27 या फिर 28 मई को जारी किया जाएगा।

1 जून से काउंसलिंग की तैयारी
आरयू की टीम पिछले कई दिनों से रिजल्ट को अंतिम रूप देने में जुटी थी। पहले 15 फिर 20 मई को रिजल्ट जारी करने की डेट तय की गई थी, लेकिन बाद में आरयू प्रशासन ने 21 मई को दोनों पेपर के स्कोर और आंसर की जारी करने का निर्णय लिया। वहीं अभ्यर्थी इसे अधूरा परिणाम मान रहे हैं। जबकि प्रशासन का तर्क है कि ऐसा अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए किया गया है। साथ ही बताया कि 1 जून से काउसंलिंग शुरू कराई जाएगी।

सर्टिफिकेट की कमी से हुई देरी
एनसीसी, एनएसएस, खेल के वेटेज और एससी-एसटी, ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थियों के जाति प्रमाण पत्रों में कई कमियां सामने आई हैं। कई अभ्यर्थियों के प्रमाण पत्र साफ नहीं थे, तो कुछ के पुराने थे। आरयू ने ऐसे अभ्यर्थियों को नए प्रमाण पत्र अपलोड करने का मौका दिया था। पूरा परीक्षा परिणाम एक साथ न आने का एक कारण इन प्रमाण पत्रों की जांच में देरी भी मानी जा रही है।

संतुष्ट नहीं हैं तो करें चैलेंज
अभ्यर्थी आंसर-की से अपने सवालों के जवाब चेक कर सकते हैं। किसी को संदेह हो कि सही जवाब का मा‌र्क्स नहीं मिला या कोई अन्य आशंका हो तो वह यूपीबीएड 2019 की वेबसाइट पर जाकर ग्रीवांस सेल में अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। एक विषय की कॉपी के लिए पांच सौ और दोनों विषयों की कॉपी दोबारा जांचने के लिए हजार रुपये फीसजमा करनी होगी। अभ्यर्थियों के पास 23 मई की रात 11:59 बजे तक शिकायत दर्ज करने का मौका रहेगा।

प्रवेश को लेकर रहेगी मारामारी
परीक्षा में 6,09,209 अभ्यर्थी रजिस्टर्ड थे, जबकि 5,66,400 ने परीक्षा दी थी। पिछले कई सालों में बीएड की परीक्षा में अभ्यर्थियों की यह संख्या रिकॉर्ड मानी जा रही है। प्रोफेसर मानते हैं कि अबकी एडमिशन को लेकर भी मारामारी रहेगी।

अभ्यर्थियों की शिकायत का निस्तारण करने के लिए मौका दिया गया है। मूल परिणाम तैयार है, केवल छात्रों को परिणाम को चुनौती देने का मौका दिया गया। इस कारण रैंक नहीं निकाली।

-प्रो। बीआर कुकरेती, यूपी बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा को-ऑर्डिनेटर