-अब ऑल इंडिया नॉर्थ जोन में गोल्ड, सिल्वर और ब्रांज पाने वाले प्लेयर होंगे सम्मानित

BAREILLY: गेम के प्रति दूरी बनाने वाले कॉलेजेज के प्रति आरयू ने कड़ा रवैया अपनाने का निर्णय शुक्रवार को लिया है. आरयू के सभागार में वीसी की अध्यक्षता में हुई बैठक में 80 कॉलेजेज के क्रीड़ा अधिकारियों ने भाग लिया. जिसमें 5 बिन्दुओं पर अहम निर्णय लिया गया. गेम नहीं कराने वाले कॉलेजेज के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी और गेम में पार्टिसिपेट पर 1 वर्ष के लिए रोक लगा दी जाएगी.

टीम के साथ रहेंगे मैनेजर

आरयू से संबद्ध कॉलेजेज में जिन्होंने स्पो‌र्ट्स ले रखा है, लेकिन गेम नहीं कराते हैं. ऐसे कॉलेजेज के खिलाफ अब कार्रवाई की जाएगी. जिसके तहत उस कॉलेज को गेम में पार्टिसिपेट पर भी रोक लगाई जा सकती है. बैठक में इसी तरह के कई निर्णय लिए गए. जिसमें यह भी निर्णय लिया गया कि ऑल इंडिया नार्थ 2018-19 के स्पो‌र्ट्स में गोल्ड जीतने वाले प्लेयर को 51 हजार, सिल्वर जीतने वाले प्लेयर को 35 हजार और ब्राउंज मेडल पाने वाले को 25 हजार रुपए नकद पुरस्कार आरयू की तरफ से दी जाएगी.

यह भी लिए गए निर्णय

-कॉलेज में स्पोर्टस होने के बाद भी स्पो‌र्ट्स नहीं कराते है ऐसे कॉलेजेज को आरयू 1 वर्ष के लिए स्पो‌र्ट्स पर रोक लगाएगा.

-गेम में प्लेयर्स को प्रतिभाग कराने के बाद टीम के साथ टीम मैनेजर नहीं जाने वाले कॉलेजेज के गेम पर दो वर्ष के लिए प्रतिबंध.

-जोनल में टीम को प्रतिभाग कराने के एक माह के अंदर अपना बिल पेश नहीं करने वाले कॉलेजेज को तीन वर्ष के लिए प्रतिबंध किया जाएगा.

-स्टेडियम में गेम होने के दौरान अब एस्पॉन्सरशिप के लिए अनुमति दी जाएगी. ताकि कोई भी आम व्यक्ति अपने प्रोडक्ट का प्रचार-प्रसार कर सके.

बैठक में वाइस चांसलर प्रो. अनिल शुक्ला, रजिस्ट्रार अशोक कुमार अरविन्द और क्रीड़ा अधिकारी डॉ. हेम कुमार गौतम के साथ अन्य कॉलेजेज के क्रीड़ा अधिकारी भी मौजूद रहे.