कमिश्नर ने की पेरेंट्स से अपील, बच्चों को रखे धरना-प्रदर्शन से दूर

कमिश्नर ने कानून व्यवस्था को लेकर अधिकारियों को दिए निर्देश

Meerut. भ्रामक खबर फैलाने वालों को एफआईआर दर्ज करके जेल भेजा जाएगा. मजिस्ट्रेट व थाना प्रभारी गांव व शहर में गश्त करें. सर्किल की हर गतिविधि पर नजर रखे. ये निर्देश कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक के दौरान कमिश्नर डॉ. प्रभात कुमार ने दिए. उन्होंने गोपनीय सूचना को और पुख्ता किया जाए.

पेरेंट्स से अपील

कमिश्नर डॉ. प्रभात कुमार ने अभिभावकों से अपील की कि वे बच्चों को धरना-प्रदर्शन से दूर रखें. क्योंकि प्रशासन की कार्रवाई से उनका भविष्य खराब हो सकता है.

ये रहे मौजूद

इस अवसर पर एडीजी प्रशांत कुमार, आईजी राम कुमार, डीएम अनिल ढींगरा, एसएसपी मंजिल सैनी, अपर आयुक्त जयशंकर दूबे, एसपी सिटी मान सिंह चौहान, एसपी देहात राजेश कुमार, एडीएम सिटी मुकेश चन्द्र समेत काफी अधिकारी मजूद रहे.

लेनी पड़ेगी अनुमति

कमिश्नर डॉ. प्रभात कुमार ने 14 अप्रैल के कार्यक्रम के लिए आयोजकों से सम्बधित इंस्पेक्टर से 9 अप्रैल तक प्रार्थना पत्र देने के लिए कहा है. साथ ही मजिस्ट्रेट व इंस्पेक्टरों को निर्देशित किया कि वे आयोजकों के साथ बैठकके उपरान्त ही शोभायात्रा, जुलूस आदि की अनुमति दें.

सोशल मीडिया पर नजर

उन्होंने कहा कि साइबर सेल के माध्यम से सोशल मीडिया पर नजर रखी जा रही है. भ्रामक सूचना फैलाने वालों पर एफआईआर दर्ज कर उनको जेल भेजा जाएगा.

फर्जी निकली वीडियो

एडीएम सिटी मुकेश चंद्र ने बताया कि सोशल मीडिया पर अपलोड वीडियो को देखने व उसकी छानबीन के उपरान्त वीडियो भेजने वाले से पूछने पर पता चला कि उनके द्वारा जातीय व धार्मिक उन्माद फैलाने से संबंधित कोई भी वीडियो अपलोड नहीं किया गया है.