कानपुर। दुनिया के महान बल्लेबाजों में शुमार सचिन तेंदुलकर को बुधवार को गहरा आघात लगा। सचिन को क्रिकेट के गुर सिखाने वाले उनके कोच रमाकांत आचरेकर अब नहीं रहे। गंभीर बीमारियों के चलते आचरेकर सर का मुंबई में निधन हो गया। इस दुखद घड़ी पर सचिन तेंदुलकर ने टि्वटर पर उनको भावभीनी श्रद्घांजलि दी। सचिन ने आचरेकर के साथ एक फोटो पोस्ट करते हुए भावुक संदेश लिखा। आइए पढ़ें एक शिष्य का गुरु के नाम आखिरी खत...
गुरु आचरेकर के नाम सचिन का आखिरी खत,हिंदी में पढ़ें तेंदुलकर का भावुक संदेश
''आचरेकर सर के स्वर्ग जाने के बाद अब वहां भी क्रिकेट का प्रभाव बढ़ जाएगा। अन्य शिष्यों की तरह मैंने भी क्रिकेट की एबीसीडी आचरेकर सर से सीखी। मेरे जीवन में उनका योगदान काफी रहा जिसे मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता। आज मैं अगर मजबूती से खड़ा हूं तो इसकी नींव रखने वाले आचरेकर सर ही थे। पिछले महीने मैं अन्य शिष्यों के साथ सर से मिला था। हमने साथ में वहां काफी वक्त बिताया था। हम पुरानी यादों को याद करते हुए हंस रहे थे। आचरेकर सर ने हमें सिखाया था कि सिर्फ खेल ही नहीं जीवन भी सीधे और सरल तरीके से जीना चाहिए। हमें सिखाने के लिए और अपनी जिंदगी का हिस्सा बनाने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। बहुत अच्छा खेले सर, आशा करता हूं आपकी कोचिंग कभी खत्म नहीं होगी।''
गुरु आचरेकर के नाम सचिन का आखिरी खत,हिंदी में पढ़ें तेंदुलकर का भावुक संदेश
विनोद कांबली ने भी जताया दुख

सचिन तेंदुलकर के अलावा रमाकांत आचरेकर ने पूर्व भारतीय क्रिकेटर विनोद कांबली को भी क्रिकेट की ट्रेनिंग दी थी। सचिन और कांबली साथ-साथ ही आचरेकर सर के पास क्रिकेट खेलने जाया करते थे। अपने गुरु के निधन की खबर सुनते ही कांबली ने भी टि्वटर पर श्रद्घांजलि दी। कांबली ने आचरेकर सर के साथ एक फोटो शेयर करते हुए कैप्शन लिखा, 'रमाकांत आचरेकर सर मेरे क्रिकेट करियर के जन्मदाता रहे। आप हमेशा याद आएंगे। आपकी आत्मा को शांति मिले। इस दुुख की घड़ी में मैं आचरेकर परिवार के साथ हूं।'

सचिन तेंदुलकर के गुरु रमाकांत आचरेकर नहीं रहे, तस्वीर में देखिए उन्होंने कैसे दी थी सचिन को ट्रेनिंग


साल 2019 का क्रिकेट कैलेंडर, कब-कहां कौन सा मैच खेलेगी टीम इंडिया

Cricket News inextlive from Cricket News Desk