कानपुर। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) आज देश का 35वां संचार सेटेलाइट जीसैट-7ए लांच करने जा रहा है। इसरो के मुताबिक इसकी लॉन्चिंग आंध्रप्रदेश के श्रीहरिकोटा में सतीश धवन स्पेस सेंटर में होगी। इसके लिए आज शाम चार बजकर 10 मिनट का समय तय हुआ है। श्रीहरिकोटा में सतीश धवन स्पेस सेंटर में जीसैट-7ए को जीएसएलवी एफ-11  जियोसिंक्रोनस ट्रांसफर आर्बिट में छोड़ेगा। खबरों की मानें तो जीसैट-7ए  का वजन 2,250 किलोग्राम वजन है। जीसैट-7ए का जीवन 8 साल बताई जा रही है। इस नए सेटेलाइट से 100 गीगाबाइट इंटरनेट स्पीड होगी। इससे भारत में केयू-बैंड के यूजर्स को संचार क्षमताएं मिलेगी।  

इसरो आज लाॅन्च करेगा जीसैट-7ए,देश में बेहतर होंगी संचार सेवाएं

जीसैट-11 हुआ था लाॅन्च

बता दें कि बीते 5 दिसंबर को इसरो ने भारत के सबसे भारी उपग्रह जीसैट-11 को सुबह यूरोपीय स्पेस एजेंसी के प्रक्षेपण केंद्र फ्रेंच गयाना से अंतरिक्ष के लिए रवाना किया गया था। एरियन-5 रॉकेट ने बेहद सुगमता से जीसैट-11 को उसकी कक्षा में स्थापित किया था। जीसैट-11 भारत की सबसे बेहरीन अंतरिक्ष संपत्ति में है। यह भारत द्वारा निर्मित अब तक का सबसे भारी, बड़ा और शक्तिशाली उपग्रह है। इसरो का कहना था कि हर सेकंड 100 गीगाबाइट से ऊपर की ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी देने में सक्षम होगा। इसके साथ ही हाई क्वालिटी टेलीकॉम और डीटीएच सेवाओं में भी यह उपग्रह एक अहम भूमिका निभाएगा। इससे देश में इंटरनेट स्पीड पहले से काफी बेहतर हो जाएगी।

ISRO ने देश का सबसे वजनी सेटेलाइट जीसैट-11 भेजा अंतरिक्ष, इंटरनेट की बढ़ेगी रफ्तार

National News inextlive from India News Desk