सउदी अरब टीम के विमान में लगी आग
कानपुर। रूस में चल रहा फीफा वर्ल्ड कप 2018 खेलने गई सउदी अरब की टीम सोमवार को बाल-बाल बच गई। पूरी फुटबॉल टीम सेंट पीटर्सबर्ग से रोस्तोव जा रही थी कि रास्ते में विमान के इंजन में आग लग गई। इसके बाद पायलट को सूचना मिलते ही विमान को सुरक्षित लैंड करा दिया गया, हालांकि किसी खिलाड़ी के चोटिल या हताहत होने की खबर नहीं आई है। सउदी नेशनल टीम ने अपने ऑफिशियल टि्वटर अकाउंट पर जानकारी दी कि, ''सऊदी अरब फुटबॉल फेडरशन सबको आश्वस्त करना चाहता है कि विमान में तकनीकी खराबी आने के बाद सउदी नेशनल टीम के सभी खिलाड़ी सुरक्षित हैं।'
आसमान में बाल-बाल बची सऊदी अरब की फुटबाॅल टीम लेकिन 70 साल पहले इटली की टीम नहीं थी खुशनसीब
1949 में हुआ था एक हादसा
फुटबॉल टीम के विमान हादसे पहले भी कई बार हो चुके हैं। सबसे चर्चित एयर प्लेन क्रैश साल 1949 को हुआ था जब एक साथ पूरी फुटबॉल टीम की जान चली गई थी। डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक, फीफा वर्ल्ड कप 1950 शुरु होने से ठीक एक साल पहले इटली के टोरिनो फुटबॉल क्लब के खिलाड़ी टू्यरिन से होते हुए जा रहे थे, तभी वहां की सुपरगा पहाड़ी पर उनका प्लेन टकरा गया। प्लेन में सभी खिलाड़ियों सहित कुल 31 लोग सवार थे और सभी की मौके पर ही मौत हो गई। यह विमान हादसा Superga air disaster के नाम से जाना जाता है।
आसमान में बाल-बाल बची सऊदी अरब की फुटबाॅल टीम लेकिन 70 साल पहले इटली की टीम नहीं थी खुशनसीब
इटली के लिए था यह बुरा सपना
टोरिनो की टीम के सदस्यों की मौत से इटली को बहुत बड़ा झटका लगा क्योंकि अगले साल फीफा वर्ल्ड कप शुरु होना था। खैर इटली उस टूर्नामेंट में खेलने तो उतरी लेकिन टोरिनो के स्टार खिलाड़ी की जगह नए प्लेयर्स नहीं ले पाए। यही नहीं वर्ल्ड कप से ठीक पहले इटली के कोच ने इस्तीफा भी दे दिया था। ऐसे में 1950 फीफा वर्ल्ड कप इटली के लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं रहा।

फीफा वर्ल्ड कप : टीम की जीत की खुशी पर फैंस इतना कूदे कि हिल गई धरती, आ गया भूकंप

एक मशहूर क्रिेकेटर अंपायर जिसे फुटबॉल वर्ल्ड कप मैच में बना दिया गया रेफरी

inextlive from News Desk