गोल्ड लोन घोटाले का आरोपी ज्वेलर्स आया सामने, कहा-साजिशन फंसा रहे अधिकारी

-ज्वेलर्स का दावा फर्म के नाम से तैयार किए गए फर्जी दस्तावेज

-सबसे अधिक घपला चूडि़यों के वजन में किया गया

i update

GORAKHPUR: चौरीचौरा एसबीआई बैंक में हुए गोल्ड लोन घोटाले में एक नया पहलू सामने आया है. घोटाले के आरोपी ज्वेलर्स रमेश जायसवाल के बेटे आकाश जायसवाल ने अपना पक्ष रखा और बैंक की कार्रवाई पर सवाल खड़े किए और पिता को निर्दोष बताया.

कहा कि वैल्यूएशन के लिए बैंक के प्रतिनिधि के साथ कस्टमर भी आता था. दोनों के सामने गोल्ड की वैल्यू की जाती थी और उस डाटा को एक फार्मेट में तैयार कर उसकी तीन कॉपियां तैयार की जाती हैं, जिसे बैंक के प्रतिनिधि को सौंप दिया जाता है. दिल्ली के फोर्टिस अस्पताल के कागजात दिखाते हुए आकाश ने बताया कि रमेश जायसवाल का इलाज चल रहा है. बैंक मैनेजर धर्मेद्र सिंह से मुलाकात कर पूछा- आखिर हमारी क्या गलती थी जो हम पर केस दर्ज कराया गया.

तैयार किए फर्जी डाक्यूमेंट

रमेश जायसवाल के बेटे आकाश का कहना है हम लोगों ने गोल्ड के वैल्यूएशन में किसी तरह का घपला नहीं किया है. बल्कि हमारे दुकान के नाम से फर्जी डाक्यूमेंट तैयार किए गए हैं, जिनके सहारे गोल्ड लोन घोटाला किया गया. आरोपी टीएन पांडेय हमारी शॉप पर पिछले एक साल से नहीं आया है. इसके बावजूद अभी घोटाला हुआ है तो जाहिर सी बात है कि सबसे पहले उन पेपर्स की सच्चाई की जांच की जानी चाहिए. जिनके जरिए लोन पास कराया गया है. जमुना प्रसाद भगवान दास ज्वेलरी एंड बैंकर्स नाम की हमारी फर्म के पेपर्स और जिस लोन में घोटाला हुआ है उनके पेपर्स की जांच करने पर सच्चाई सामने आ जाएगी.

अपने को बचाने के लिए हमें बना रहे बकरा

दैनिक जागरण आई नेक्स्ट से फोन पर ज्वेलर्स रमेश जायसवाल ने बताया कि हमारे वैल्यूएटर बनाने के लिए बैंक ने करार किया था. गोल्ड लोन के लिए जितने वैल्यूएशन होते वह फर्म के पैड पर ही जारी किए जाते हैं, जो डाक्यूमेंट के तौर हमेशा मौजूद रहेंगे. यदि बैंक को हम पर शक था तो एक बार पक्ष रखने का मौका देना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. बैंक मैनेजर ने जिन लोगों पर एफआईआर दर्ज कराया है. साफ लगता है कि बैंक अधिकारी कुछ लोगों को बचाने के लिए ऐसा कर रहे हैं.

वर्जन

बैंक ने हम पर एफआईआर दर्ज कराने से पहले अपना पक्ष रखने तक का मौका नहीं दिया. हम किसी भी तरह की जांच को तैयार हैं.

रमेश जायसवाल, आरोपित ज्वेलर्स