- पेमेंट लिया 100 टन चूने का और एंट्री सिर्फ 90 टन की

- स्वास्थ्य विभाग ने की गड़बड़ी, अपर आयुक्त कर रहे जांच

Meerut . नगर निगम में एक और घोटाला सामने आया है. इस बार नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग ने चूना खरीदने में निगम को 80 हजार रुपये का चूना लगा दिया. मामला सामने आने पर कमिश्नर ने अपर आयुक्त को मामले की जांच के निर्देश दिए. वहीं, नगर निगम के अधिकारी इस मामले पर कुछ बोलने को तैयार नहीं है.

शिकायत पर हुई जांच

दरअसल, भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य अजय गुप्ता ने कमिश्नर डॉ. प्रभात कुमार से शिकायत की थी, जिस पर कमिश्नर ने अपर नगर आयुक्त को जांच अधिकारी बनाकर जांच के निर्देश दिए थे. साथ ही 30 सितंबर तक जांच पूरी कर रिपोर्ट देने के लिए कहा था. लेकिन निगम द्वारा तथ्य उपलब्ध न कराने के कारण अभी तक जांच पूरी नहीं हुई है.

तीन बार भेज चुके रिमाइंडर

अपर आयुक्त की तरफ से डॉक्यूमेंट देने के लिए तीन बार रिमाइंडर भेजा जा चुका है. बावजूद इसके नगर निगम के अधिकारी डॉक्यूमेंट उपलब्ध नहीं करा रहे हैं. यह हाल तब है जब नगर आयुक्त ने भी नाराजगी जताते हुए स्वास्थ्य विभाग को कार्रवाई की चेतावनी दी है.

एंट्री में की गड़बड़ी

नगर निगम के अधिकारियों की माने तो नगर स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा भेजे गए बिल में 100 टन चूने का पेमेंट किया गया था. जबकि एंट्री केवल 90 टन चूने की है. 10 टन चूने की एंट्री ही नहीं है. जिसको निगम के अधिकारियों ने भी घोटाला माना है.

अपर आयुक्त द्वारा मामले की जांच की जा रही है. स्वास्थ्य विभाग को डाक्यूमेंट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं. जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. अनियमियत्ता किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

मनोज कुमार चौहान, नगर आयुक्त