- हाईकोर्ट के आदेश पर एसआईटी ने शंखधर से हरिद्वार में 7 घंटे की पूछताछ

HARIDWAR: छात्रवृत्ति घोटाले में समाज कल्याण विभाग के डिप्टी डायरेक्टर अनुराग शंखधर को गिरफ्तार कर लिया गया है। थर्सडे को हाईकोर्ट के आदेश के बाद स्पेशल इंवेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) के सामने पेश हुए शंखधर से हरिद्वार में करीब सात घंटे पूछताछ की गई। इस दौरान करीब 100 से ज्यादा पूछे गए। संपत्ति के मामले में वे सबसे ज्यादा असहज नजर आए। पद के दुरुपयोग समेत भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे शंखधर अपना बचाव करने में जुटे रहे। गिरफ्तारी से बचने के लिए हाईकोर्ट से वकीलों की टीम बुला ली, लेकिन वे ऐसा कोई आदेश नहीं दिखा सके जिससे गिरफ्तारी रुक पाती। अब उन पर निलंबन की तलवार भी लटक चुकी है। इससे पहले थर्सडे को राज्य सरकार ने शंखधर से समाज कल्याण विभाग के तहत जनजाति कल्याण निदेशालय में आईटी सेल के नोडल अधिकारी का चार्ज भी हटा दिया और संयुक्त निदेशक योगेंद्र रावत को जिम्मा सौंपा। हालांकि, रावत ने चार्ज लेने से मना कर दिया। सरकार ने शंखधर से अनुपस्थित रहने का कारण भी पूछा है। एसआईटी प्रभारी मंजूनाथ टीसी ने बताया कि शंखधर के विरुद्ध पर्याप्त सुबूत मिलने पर ही उनकी गिरफ्तारी की गई है। फ्राइडे को उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा।