खास स्कूलों को मिलेगा शासन से सोलर पैनल का तोहफा

100 से ज्यादा बच्चे, शौचालय व अन्य शर्ते पूरी करने वाले स्कूलों के लिए तैयार हुई योजना

>Meerut. शासन की योजना के तहत 250 कई प्राइमरी स्कूलों में सोलर पैनल लगाए जाएंगे. इससे स्कूलों को बिजली कटौती से राहत मिल सकेगी. शासन ने इस योजना की मंजूरी दी है. वहीं, स्कूलों में पंखे लगवाने की भी योजना है.

1.1 किलो वाट के सोलर पैनल

योजना के अंर्तगत स्कूलों में 1.1 किलोवॉट के सोलर पैनल लगाए जाएंगे. इसके लिए हर जिले में कुछ स्कूलों को चिंहित किया जाएगा. इससे उत्पन्न सौर ऊर्जा से स्कूलों में हेड मास्टर के ऑफिस के अलावा 4 अन्य क्लासेज के पंखे चल सकेंगे. इस योजना के लिए स्कूलों का चयन स्टूडेंट्स की संख्या के आधार पर होगा.

खास स्कूलों काे तोहफा

शासन की ओर से मिलने वाला यह तोहफा कई पैरामीटर्स पर परखने के बाद सिर्फ 250 स्कूलों को मिलेगा. स्कूलों का चयन बच्चों की संख्या के अलावा इस बात पर भी निर्भर करेगा कि स्कूल की स्थिति कैसी है. पढाई-लिखाई का स्तर कैसा है. सरकारी योजनाओं का क्या हाल है. इसके अलावा इस योजना का लाभ पाने के लिए स्कूल की छत और निर्माण पक्का होना चाहिए ताकि वाटर टैंक भी लगाया जा सके. शौचालय पूरे होने चाहिए व स्कूलों में चोरी या दुर्घटना की संभावना न के बराबर होनी चाहिए.

यह सुविधाएं भी मिलेंगी.

आरओ वाटर प्यूरीफायर

वाटर पंप

एक हजार लीटर का ओवर हेड टैंक

हर स्कूल में पांच पंखे

स्कूलों में सोलर प्लांट लगाने की शासन की योजना तैयार हो रही है. हम अपने यहां के स्कूलों की स्थिति चेक करवा रहे हैं. इस योजना से स्टूडेंट्स को काफी फायदा होगा.

सतेंद्र कुमार ढाका, बीएसए, मेरठ