25

हजार रुपए का इनामी है शातिर क्रिमिनल टर्की

92

हजार रुपए पुलिस ने तलाशी के दौरान बरामद किया उसके पास से

02

स्वर्णकार समेत चार आरोपी अब भी हैं पुलिस की पकड़ से दूर

30

अप्रैल को यूको बैंक के स्ट्रांग रूम व डबल लॉक काट कर हुई थी चोरी

हसन चिकना समेत कई आरोपित पहले ही जा चुके हैं जेल

यूको बैंक के लॉकर से चुराए गए गहनों का सौदा करने आया था रहीम उर्फ टर्की

ALLAHABAD: 25 हजार रुपए के इनामी चिकना गैंग का सेकंडमैन शातिर रहीम टर्की गुरुवार को पुलिस के हत्थे चढ़ गया. वह सिविल लाइंस एरिया में स्थित यूको बैंक में लॉकर काटकर करोड़ों की ज्वैलरी गायब कर देने के मामले में वांटेड था. वह झारखंड के साहेबगंज का निवासी है. हसन चिकना गैंग का सेकेंड मैन टर्की बैंक से चुराए गए ज्वैलरी को यहां बेचने आया था. तलाशी में उसके पास से पुलिस को 92 हजार रुपए मिले हैं. चोरी का गहना खरीदने वाले दो सर्राफा कारोबारी को भी पुलिस ने नामजद किया है. मामले में अब पुलिस को चार लोगों की तलाश है.

मुखबिर ने दी थी सटीक सूचना

पकड़े गए बदमाश को पुलिस लाइंस सभागार में शुक्रवार को एसएसपी नितिन तिवारी ने मीडिया के सामने पेश किया. उन्होंने बताया कि 30 अप्रैल को सिविल लाइंस स्थित यूको बैंक के कई लॉकर को काटकर करोड़ों रुपए के गहने, कैश उड़ाए चुराए गए थे. केस में हसन चिकना समेत कई आरोपित जेल जा चुके हैं. मुखबिर की सूचना पर क्राइम ब्रांच और सिविल लाइंस पुलिस ने रेलवे स्टेशन से शुक्रवार को रहीम उर्फ टर्की पुत्र इसहाक पाइका निवासी निकुआ टोला, राजमहल, साहेबगंज झारखंड को दबोच लिया. टर्की बैंक से चोरी हुए गहनों को यहां बेचने के लिए डील करने आया था. इसी बीच टीम ने गिरफ्तार कर लिया. इसे गिरफ्तारी करने वाली टीम में एएसपी सुकीर्ति माधव, क्राइम ब्रांच के बृजेश सिंह, नागेश सिंह, वृंदावन राय, इंस्पेक्टर सिविल लाइंस शिवमंगल आदि शामिल रहे.

ये हैं अब भी पकड़ से दूर

मुख्तार पुत्र अब्बास निवासी निकुआ टोला थाना राजमहल साहेबगंज झारखंड,

लवरेज पुत्र अयूब खां निवासी जोका सुतियाल पाढ़ा थाना राजमहल साहेबगंज झारखंड,

स्वर्णकार शशि साहा पुत्र स्व. लक्ष्मी प्रसाद साहा निवासी पश्चिम जामनगर थारा राजमहल साहेबगंज झारखंड

महेश स्वर्णकार पुत्र स्व. भोला स्वर्णकार निवासी कैथल बाड़ी राजमहल साहेबगंज

पकड़ से बाहर चल रहे चार अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस टीमों को लगा दिया गया है. उम्मीद है कि जल्द ही कामयाबी हाथ लगेगी.

नितिन तिवारी

एसएसपी, इलाहाबाद