तबादले के दो माह बाद भी नहीं कर रहे सीट खाली

नई जिम्मेदारी संभालनी होगी के बाद ही तैयारी होगी सैलरी

Meerut . तबादले के बाद भी नगर निगम की कुर्सियों पर कई सालों से टिके बाबूओं को अब ना चाहते हुए भी अपनी कुर्सी का मोह छोड़ना पडे़गा. दो माह पहले जारी हुए तबादले के आदेश का अभी तक पालन ना करने वाले बाबूओं को नगरायुक्त ने सख्त चेतावनी देते हुए रिलीव होने का आदेश दे दिया है.

49 बाबूओं का हुआ था तबादला

निगम में पिछले 15 साल से तैनात समूह ग के करीब 49 बाबूओं का 17 मई को नगरायुक्त ने पटल परिवर्तन का आदेश जारी किया था. इस आदेश के तहत कई महत्वपूर्ण विभागों में सालों से जमे बाबूओं में खलबली मच गई थी. शुरुआत में कुछ विरोध और सिफारिश के बावजूद जब आदेश वापस नहीं लिया गया तो बाबूओं ने मुख्यालय स्तर पर सिफारिशें लगाने का प्रयास किया. इसके बाद भी बाबूओं का पटल परिवर्तन का आदेश नही बदला गया. आदेश के बाद भी ये बाबू सीट का मोह त्याग नही रहे थे.

एक सप्ताह में होना होगा रिलीव

इस मामले में शिकायत होने के बाद नगरायुक्त ने गंभीरता के साथ सभी बाबूओं को अपने परिवर्तित पटल पर ज्वाइन करने का आदेश जारी किया है. जिसके तहत एक सप्ताह के भीतर सभी बाबूओं को अपनी नई जगह पर काम शुरू करना होगा. उसी सीट से बाबूओं का वेतन तैयार किया जाएगा.

इन विभागों में हुआ तबादला

- मार्ग प्रकाश

- गृहकर

- निर्माण विभाग

- स्वास्थ्य विभाग

- केंद्रीय कार्यालय

- विधि अनुभाग

सभी विभागों में तबादले के बाद भी बाबू अपनी पुरानी जगह पर कार्यरत हैं. उन्हें कई बार रिलीव कर नई जगह पर काम करने का आदेश दिया जा चुका है लेकिन आदेश का पालन नही हो रहा है. एक बार फिर नगरायुक्त ने सख्त आदेश जारी किए हैं.

अली हसन कर्नी, अपर नगरायुक्त