स्वाइन फ्लू का अलर्ट, शासन ने स्वास्थ्य विभाग से मांगा ब्योरा

Meerut. मेडिकल कॉलेज में एडमिट एक मरीज में बुधवार को डेंगू की पुष्टि हुई. इससे पहले सोमवार को डेंगू का पहला मरीज सामने आया था. जिसे फिलहाल मेडिकल कॉलेज में आईसीसीयू यूनिट में एडमिट किया गया है. डेंगू के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग सावधान हो गया है. वहीं स्वाइन फ्लू का अलर्ट भी जारी कर दिया गया है.

यह है स्थिति

मेडिकल कॉलेज के सीएमएस डॉ. अजीत कुमार ने बताया कि 4 सितंबर को खुर्जा निवासी 30 साल के रहीसू को पेट दर्द की शिकायत पर उसके परिजन यहां लेकर आएं थे. इस दौरान उसको हल्का बुखार भी था. जांच के बाद उसको मल्टीपल लीवर एपिसिज की पुष्टि हुई. इलाज के दौरान जब रहीसू का बुखार ठीक नहीं हुआ तो डॉक्टर्स को डेंगू का अंदेशा हुआ और जांच के लिए सैंपल भेजा गया. बुधवार को आई जांच रिपोर्ट में मरीज में डेंगू की पुष्टि हुई. रहीसू की पत्नी सलमा ने बताया कि वह करीब 15 दिन से बीमार था. पहले गांव में ही दवाइयां दिलवाई थी लेकिन जब हालात में सुधार नहीं हुआ तो उसे मेडिकल कॉलेज लाया गया.

शासन ने मांगा ब्योरा

डेंगू और स्वाइन फ्लू का प्रकोप कई जिलों में फैल रहा है. जनवरी से अब तक प्रदेश में 16 लोगों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हो चुकी है. जबकि तीन लोगों की इससे मौत भी हो गई है. पिछले साल भी स्वाइन फ्लू के मेरठ में 396 केस मिले थे, जिसमें 23 लोगों की मौत हो गई थी. स्थिति की गंभीरता को भांपते हुए शासन ने स्वास्थ्य विभाग को इससे निपटने की तैयारियों की रिपोर्ट का ब्योरा देने के लिए कहा है. इसके साथ ही शासन ने विभाग को इसके बचाव के लिए पीपीई किट, दवाइयां आदि का स्टॉक पूरा करने और अस्पतालों में अलग से वार्ड तैयार करने के निर्देश भी जारी किए हैं. सीएमओ डॉ. राजकुमार के अनुसार स्वाइन फ्लू से बचाव के लिए तैयारी की जा रही है. डेंगू का अलर्ट भी जारी कर दिया गया है.