RANCHI: राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की पहल पर रांची पुलिस की ओर से बल उपलब्ध कराया जा रहा है. रांची के जिन ग‌र्ल्स हॉस्टल में पुलिस सुरक्षा व्यवस्था देने जा रही है. इनमें पीस रोड, व‌र्द्ववान कंपाउंड समेत अन्य कॉलेजों के पास स्थित हॉस्टल शामिल हैं. इतना ही नहीं, रांची पुलिस ने ग‌र्ल्स हॉस्टल की सड़कों पर सीसीटीवी लगाने का प्रस्ताव वहां के अपार्टमेंट और हॉस्टल ओनर को दिया है.

मजनुओं जमा रहता है डेरा

ग‌र्ल्स हॉस्टल में पुलिस सुरक्षा व्यवस्था की कवायद सिर्फ इसलिए की जा रही है, क्योंकि ग‌र्ल्स हॉस्टल के आसपास असामाजिक तत्वों का डेरा हमेशा लगा रहता है. रांची के कई ग‌र्ल्स हॉस्टल से पिछले कई दिनों से शिकायतें मिल रही हैं कि आसपास मजनुओं का डेरा जमा रहता है. इन मजनुओं की वजह से लड़कियों का बाहर निकलना भी मुश्किल होता है.

पुलिस को देख भाग रहे हैं शोहदे

दिन में पुलिस की सक्रियता के चलते शोहदे पुलिस के आते ही नौ दो ग्यारह हो जाते हैं. लेकिन ग‌र्ल्स हॉस्टल के आसपास ये लोग घूमते मिल जाएंगे. पुलिस सुरक्षा मिलने से लड़कियों में सुरक्षा का भाव जागेगा और ग‌र्ल्स हॉस्टल के आसपास खड़े होने वाले असामाजिक तत्वों से भी निजात मिल जाएगी.

पुलिसकर्मी का भतीजा भी पिटाया था

सिटी एसपी अमन कुमार की चेकिंग के दौरान उधर से गुजर रहे पुलिसकर्मी के भतीजे को भी पुलिस का कोपभाजन बनना पड़ा. युवकों का कहना था कि वे लोग उधर से गुजर रहे थे कि पुलिस ने रोक लिया और गाड़ी को थाने में लगवा दिया.