छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र : टाटा नगर स्टेशन में जल्द सेल्फी प्वाइंट बनाया जाएगा. इंडियन रेलवे देश में सेल्फी प्वाइंट बनाने के लिए 70 स्टेशन का चयन किया है, दिसंबर तक सुविधाओं में सुधार कर सेल्फी प्वाइंट बना दिए जाएंगे. इसमें टाटा नगर स्टेशन का नाम भी शामिल किया गया है. दक्षिण पुर्व रेलवे टाटा नगर स्टेशन का नाम इसलिए चयनित किया गया है, क्योंकि यहां लिफ्ट तथा एक्सेलटर तथा साफ सफाई तथा अन्य सुविधाएं मौजूद है, भारतीय रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कॉर्पेर्शन (आईआरएसडीसी) सेल्फी प्वाइंट के बनाने के लिए तय मापक की सारी सुविधाएं यहां मौजूद है.

अपग्रेड करने की पहल

देश के कई रेलवे स्टेशनों को अप्रग्रेड कर उनकी खूबसूरती और वहां मौजूद सुविधाओं में बढ़ोत्तरी की जा रही है. इन रेलवे स्टेशनों पर अत्याधुनिक सुविधाओं के साथ ही सेल्फी प्वाइंट भी चिन्हित होंगे. पहले चरण में जिन 70 रेलवे स्टेशनों पर यह काम होना है. भारतीय रेलवे द्वारा सुझाए गए कुछ स्टेशनों में टाटा नगर, पुणे, मुंबई, नागपुर, लखनऊ, वाराणसी, जयपुर, दिल्ली, मैसूर, लोनावाला इत्यादि स्टेशन शामिल हैं.

मूलभूत सुविधाओं को बढ़ावा

स्टेशन के अपग्रेडेशन के काम में मूलभूत यात्री सुविधाओं को बढ़ावा दिए जाने पर सबसे अधिक फोकस रहेगा. स्टेशनों पर फुट ओवर ब्रिज, एस्केलेटर, सुरक्षा के इंतजाम सहित अन्य जरूरी बातों का ध्यान में रखते हुए सुविधाओं का विस्तार किया जाएगा. रेलवे के स्टेशन के सर्कुलेटिंग क्षेत्र में पार्किंग की व्यवस्था भी बेहतर करते हुए एयरपोर्ट की तर्ज पर पार्किंग व्यवस्था तैयार की जाएगी.

मिलेंगी अत्याधुनिक सुविधाएं

दरअसल भारतीय रेलवे देश के रेलवे स्टेशनों को अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस करते हुए दुनिया के बेहतरीन रेलवे स्टेशनों की तर्ज पर विकसित करने की तैयारी में है. भारतीय रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कॉर्पेर्शन (आईआरएसडीसी) जिन ने जिन स्टेशनों पर काम शुरू हुए हैं उनमें स्टेशन के भीतर और बाहर सुविधाओं और ढांचागत निर्माण को भी बेहतर किया जा रहा है. इसके तहत टाटा नगर स्टेशन में भी कई कार्य किए गए है, तथा स्टेशन को अत्याधुनिक बनाने के लिए कई कार्य किए जाने है.

कई स्टेशनों में फाइव स्टार होटल व हॉस्पिटल भी

देश के कई रेलवे स्टेशनों पर अत्याधुनिक फाइव सितारा होटल और संसाधनों से लैस अस्पताल भी संचालित करने की तैयारी है. स्टेशन के सर्कुलेटिंग क्षेत्र को अधिक से अधिक व्यावसायिक उपयोग में लेने की भी कोशिश होगी जिससे राजस्व की बढ़ोत्तरी हो.