patna@inext.co.in
PATNA : न्यायाधीश शाह को सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने मुख्य न्यायाधीश बनाने के लिए अपनी अनुशंसा पहले ही भेज दी थी। वहीं पटना हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश राजेन्द्र मेनन दिल्ली हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश का पद संभालेंगे। जस्टिस मेनन को दी गई विदाई 2016 में पटना हाईकोर्ट के अपर न्यायाधीश के रूप में नियुक्त न्यायाधीश अरुण कुमार को सोमवार को स्थायी जज के रूप में पद की शपथ दिलाई गई। मुख्य न्यायाधीश राजेन्द्र मेनन ने हाईकोर्ट के मार्बल हॉल में आयोजित एक सादे समारोह में न्यायाधीश कुमार को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।

दो साल तक पटना हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस रहे

न्यायाधीश कुमार 21 अगस्त को रिटायर हो जाएंगे। न्यायाधीश कुमार के साथ एक और बात जुड़ी है। ये जिला जज के पद से सेवानिवृत हो चुके थे। लेकिन उनका नाम हाईकोर्ट जज के कोलेजियम में पहले ही भेज दिया गया था। इसके चलते वे सेवानिवृत होने के बाद हाईकोर्ट के जज बने। दो दिन पहले पटना हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश राजेन्द्र मेनन को विदाई दी गई। उनके सम्मान में यह विदाई समारोह अधिवक्ता संघों की तरफ से आयोजित किया गया। समारोह में उन्हें वकीलों की तरफ से स्मृति चिन्ह भी भेंट किया गया।दो साल रहे चीफ जस्टिस न्यायाधीश राजेन्द्र मेनन दो साल तक पटना हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस रहे। 





मुख्य न्यायाधीश का व्यक्तित्व बेहद मिलनसार है
पटना में दो साल तक मुख्य न्यायाधीश पद पर रहने के बाद उनका स्थानांतरण दिल्ली हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के पद पर हो गया है।  विदाई समारोह में एडवोकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष योगेश चन्द्र वर्मा, उपाध्यक्ष अंगद कुंवर ,महासचिव शैलेन्द्र कुमार सिंह लॉयर्स एसोसियेशन के वरीय अधिवक्ता राजेन्द्र प्रसाद सिंह, प्रियंका कुमारी सहित सैकड़ों वकीलोंने उनके बेहतर भविष्य की कामना की। इस अवसर पर वरीय अधिवक्ता वर्मा ने कहा कि मुख्य न्यायाधीश का व्यक्तित्व बेहद मिलनसार है। इस पर मुख्य न्यायाधीश मेनन ने भी कहाकि पटना उन्हें बराबर याद आता रहेगा।

सुप्रीम कोर्ट में 35-ए पर 27 अगस्त को होगी सुनवार्इ, जानें क्यों इसको लेकर जम्मू-कश्मीर में बिगड़े हालात

सुप्रीम कोर्ट ने मॉब लिन्चिंग पर कहा, किसी को कानून हाथ में लेने का नहीं है हक, संसद बनाए सख्त कानून

National News inextlive from India News Desk