- ग्रामीणों ने दिया प्लांट शुरु करने के लिए सात दिन का अल्टीमेटम

- पुलिस प्रशासन के साथ ग्रामीणों की बनी सहमति

- डंपिंग ग्राउंड की कमी से डोर टू डोर व्यवस्था पर भी लगे ब्रेक

Meerut . कूड़ा निस्तारण की समस्या के लिए शुक्रवार का दिन निगम के लिए राहत भरा रहा. पुलिस प्रशासन के साथ बातचीत के बाद ग्रामीणों ने सशर्त निगम को सात दिन का समय देते हुए गावड़ी प्लांट में कूड़ा डालने की अनुमति दे दी. निगम के लिए यह सहमति किसी संजीवनी बूटी से कम नही है इसलिए निगम ने बिना समय गंवाए दोपहर बाद से ही शहर की सड़कों पर फैला कूड़ा उठाना शुरु कर दिया. देर रात तक निगम का कूड़ा कलेक्शन का काम जारी रहा.

सात दिन का अल्टीमेटम

शुक्रवार को एडीएम रामचंद्र समेत निगम के आला अधिकारी मय फोर्स गावड़ी गांव में कूड़ा निस्तारण पर ग्रामीणों से बात करने पहुंचे थे, लेकिन ग्रामीणों ने विरोध करते हुए कूड़ा डालने देने से साफ इंकार कर दिया. लेकिन बाद में सपा नेता अतुल प्रधान के समझाने पर ग्रामीणों ने सात दिन के अंदर गावड़ी में कूड़ा निस्तारण प्लांट शुरु कराने की शर्त पर कूड़ा डालने की अनुमति दे दी. सात दिन का समय मिलते ही निगम की सफाई कर्मचारियों की टीम शहर की सड़कों पर उतर गई और जगह जगह सड़कों पर फैले कूड़े को उठाना शुरु कर दिया.

इन शर्तो पर डलेगा कूड़ा

ग्रामीणों के साथ प्रशासन की बातचीत के दौरान ग्रामीणों ने निगम की लापरवाही पर रोष जताते हुए कुछ प्रमुख शर्तो को पूरा करने पर रजामंदी जताई है.

ये हैं शर्ते

- एक सप्ताह में प्लांट का काम शुरु करा दें

- गड्ढों में कूड़ा डालने से पहले नीचे पन्नी डालने की मांग

- कूड़ा स्थल के आसपास आवारा कुत्तों को पकड़ने की व्यवस्था

- कूड़ा स्थल के आसपास चूना व मच्छर रोधी दवाओं का छिड़का

- पूरे शहर का कूड़ा गावड़ी में ना डाला जाए अन्य जगह के डंपिंग ग्राउंड का भी हो प्रयोग

सात दिन बाद होगी महापंचायत

निगम को सात दिन का अल्टीमेटम देने के साथ ही ग्रामीणों ने यह भी साफ कर दिया कि सात दिन बाद पंचायत जरुर होगी. यदि प्लांट शुरु नही किया गया तो आसपास के गांवों के ग्रामीण विरोध में उतर आएंगे और कूड़ा नही डलने दिया जाएगा.

डोर टू डोर हुआ प्रभावित

गावड़ी में कूड़ा डालने में चल रहे विरोध के चलते तीन दिन पहले शुरु हुई डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन की व्यवस्था का काम भी प्रभावित हो गया. शहर के 20 में ने कुछ ही वार्डो में से कूड़ा कलेक्शन हो सका. कूड़ा गाडि़यों के खाली ना हो पाने के कारण अधिकतर गाडि़यां डिपो से निकली ही नही. जिस कारण से अधिकतर वार्डो से कूड़ा कलेक्शन नही हो सका.

गावड़ी में कूड़ा निस्तारण किया जाना शुरु हो गया. शहर के अधिकतर डंपिंग ग्राउंड से जल्द से जल्द कूड़ा उठाया जाएगा.

- डॉ. कुंवर सेन, नगर स्वास्थ्य अधिकारी