क्कन्ञ्जहृन्: दीघा थानांतर्गत जनार्दन घाट पर रेत के अवैध खनन और लाखों के कारोबार में संलिप्त आधे दर्जन नाविक, मजदूर और नाव मालिकों के खिलाफ शनिवार को केस दर्ज किया गया. पुलिस और प्रशासन ने मिलकर 6 नाव और उनमें लोड रेत को भी जब्त किया है. इसकी कुल कीमत करीब 11 लाख रुपए आंकी गई है. हिरासत में चढ़े इन कारोबारियों से पुलिस पूछताछ कर रही है. यह पूरा मामला दीघा थानांतर्गत जनार्दन घाट का है.

रेत से भरी 6 नाव की गई जब्त

डीएम कुमार रवि को मुखबिर से सूचना मिली तो उन्होंने एसएसपी मनु महाराज के साथ खनन विभाग के सहायक निदेशक वंदना कुमारी, खनिज विकास पदाधिकारी प्रणव कुमार और माइनिंग प्रोफेशनल नवीन कुमार के साथ एक टीम गठित की. यह टीम जनार्दन घाट पहुंचकर दबिश दी तो छह नावों पर लोड रेत मिला. यह रेत खनन करके दूसरे जिलों तक पहुंचाने की कोशिश की जा रही थी. रेत के अवैध खनन और उसके कारोबार में संलिप्त करीब 70 लोगों को हिरासत में लिया गया है. कलेक्टर ने पुलिस को आदेश दिया है कि संलिप्त सभी के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया जाए. उनके पास से छह नावों में लोड 5400 घनफीट रेत बरामद किया गया है. नावों की कीमत 10 लाख और रेत की कीमत 50 हजार आंकी गई है. यह बालू सोनपुर, हाजीपुर, छपरा, विदुपुर आदि स्थानों पर ले जाया जाता है. प्रशासन को आशंका है कि कई बड़े रेत माफियाओं के नामों का खुलासा हो सकता है.