देशभर के पटल पर छाया मेरठ के वत्सल

- सीबीएसई 10वीं में नेशनल टॉपर बना दीवान का स्टूडेंट

- इंजीनियरिंग स्ट्रीम से नासा में जाने की देख रहा राह

MEERUT । रिजल्ट देखने के बाद मुझे यकीन नही हुआएक बार चेक किया, दो बार किया फिर भी यकीन नहीं हुआ, लगा कि कुछ गड़बड़ है.कई बार चेक करने के बाद खुद के नेशनल टॉपर होने पर यकीन हुआ। मैंने 490 मा‌र्क्स तक एक्सपेक्ट किया था लेकिन 500 में से 499. दिस इज अनबिलिवेबल। हालांकि अब बहुत अच्छा लग रहा हैयह कहना है सीबीएसई की 10वीं क्लास में नेशनल टॉपर बने वत्सल वाष्र्णेय का। दीवान पब्लिक स्कूल, मेरठ के होनहार ने देशभर में 13 टॉपर्स में से एक हैं।

रेग्युलर प्रैक्टिस से सक्सेस

बकौल वत्सल सफलता के पीछे रेग्यूलर प्रैक्टिस और फोकस्ड स्टडीज की स्ट्रेटजी हैं। वह बताता है कि उसने कभी भी पढ़ाई का प्रेशर नहीं लिया। जो भी पढ़ा उसे ठीक तरह से समझा और तैयारी की। हालांकि बोर्ड के लिए किसी प्रकार की कोचिंग नहीं ली।

सोशल मीडिया से बनाई दूरी

टाइम मैनेजमेंट को सक्सेस में जरूरी मानने वाले वत्सल का कहना है कि उसने स्टडीज में इंटरनेट की मदद जरूर ली, लेकिन सोशल मीडिया से दूरी बनाकर रखी। सेल फोन होने के बावजूद व्हाट्सअप, एफबी, इंस्टा आदि पर टाइम वेस्ट नहीं किया। अपनी सफलता का श्रेय वत्सल ने स्कूल के टीचर्स और पेरेंट्स को दिया है।

इंजीनियर बनने का सपना

वत्सल इंजीनियर बनना चाहता है। वह कहता है कि इसके लिए उसने प्रॉपर प्लानिंग की है। बोर्ड एग्जाम के दौरान ही फिट्जी से चार साल का इंटीग्रेटेड कोर्स चल रहा है। उसका मेन मोटिव नासा में जाने का है। हालांकि इंजीनियरिंग के जरिए सिविल सर्विसेज में जाने का वत्सल का कोई इरादा नहीं हैं।

पेरेंट्स डॉक्टर, लेकिन प्रेशर नहीं

वत्सल के फादर डॉ। अनुपम पैथोलोजिस्ट और मदर डॉ। तरंग स्किन स्पेशलिस्ट हैं। दोनों ही मुजफ्फरनगर मेडिकल कॉलेज में पोस्टेड हैं। डॉ। अनुपम बताते हैं कि उन्होंने वत्सल पर कभी भी पढ़ाई का प्रेशर नहीं रखा। उसने जो भी किया खुद की मेहनत से किया। डॉ.तरंग बताती हैं कि मोरली उसे पूरा सपोर्ट दिया। उसकी जरूरतों को समझा। वहीं डा। अनुपम का कहना है कि उन्हें पूरी उम्मीद थी कि उनका बेटा टॉपर बनेगा। आगे स्टडीज को लेकर भी उस पर कोई प्रेशर नहीं हैं। वह जो बनना चाहता है उसी में सपोर्ट करेंगे।

वत्सल वाष्र्णेय

फादर : डॉ। अनुपम पैथोलोजिस्ट

मदर : डॉ। तरंग, स्किन स्पेशलिस्ट

स्कूल : दीवान पब्ि1लक स्कूल

स्कोर कार्ड

इंग्लिश कॉम्यूनिकेशन-100

फ्रेंच- 100

मैथ्स- 99

साइंस- 100

सोशल साइंस- 100

प्रतिशत- 99.8

कुल मा‌र्क्स- 499