हिंदू धर्म को खराब कर रहे शंकराचार्य
जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर पायलट बाबा ने शंकराचार्य पर चरमपंथी होने का आरोप लगाया है. इस विवाद पर अपने विचार रखते हुए बाबा ने कहा कि "शंकराचार्य हिंदू धर्म को बरबाद करने पर तुले हुए हैं और नागा बाबाओं की शंकराचार्य की तानाशाही का साथ नहीं देना चाहिए." दरअसल हाल ही में शंकराचार्य ने नागा साधुओं को साईं भक्‍तों के खिलाफ लड़ाई छेड़ने को कहा था.

शंकराचार्य का साईं विरोध है खतरे की घंटी
इस बारे में आगे बात करते हुए पायलट बाबा ने कहा "शंकराचार्य निजी अंहकार में नागा साधुओं को यूज करना चाहते हैं जो एक खतरे की घंटी है. मुझे शंकराचार्य का निजी अहंकार के लिए नागा साधुओं का प्रयोग समझ नहीं आता और यह हिंदू धर्म को बर्बादी की ओर धकेलना है."

शंकराचार्य आएंगे और जाएंगे
इसके बाद उन्‍होंने कहा कि किसी धर्म को मानना या ना मानना यह एक निजी मसला है और किसी को भी किसी की व्‍यक्तिगत आस्था में इंटरफेयर करने का राइट नही है. अगर ऐसा किया जाता है तो यह एक प्रकार की हिंसा होगी और हमें किसी भी साईं भक्‍त को उनकी पूजा करने से रोकने का अधिकार नहीं है. यहां यह बात ध्‍यान देने योग्‍य है कि पायलट बाबा साधु बनने से पहले एक प्रोफेशनल पायलट थे. इसी बीच वाराणसी में शंकराचार्य की आरती उतारी गई और मंदिरों से साईं प्रतिमा हटाने की शपथ ली.

National News inextlive from India News Desk