कानपुर। वेस्टइंडीज बनाम इंग्लैंड के बीच सेंट लूसिया में खेला गया तीसरा टेस्ट भले ही मेहमान इंग्लैंड के नाम रहा। मगर इस मैच में खिलाड़ियों के बीच नोंकझोंक ने इसे इंटरनेशनल लेवल पर चर्चा में ला दिया। मैच के दौरान विंडीज गेंदबाज शेनन गैबरियल ने इंग्लिश कप्तान जो रूट पर कुछ पर्सनल कमेंट कर दिया जिसके बाद आर्इसीसी ने गैबरियल को चार वनडे मैचों से बाहर कर दिया। गैबरियल को आर्टिकल 2.13 के तहत लेवल टू का दोषी पाया गया है। इसके तहत मैदान पर किसी खिलाड़ी या अंपायर पर पर्सनल कमेंट करने पर खिलाड़ी पर प्रतिबंध लगा दिया जाता है।


रूट ने नहीं किया उजागर

गेंदबाजी के दौरान गैबरियल ने रूट के लिए कुछ अभ्रद शब्दों का इस्तेमाल किया था। जिसके जवाब में रूट ने कुछ एेसा कहा जिसे सुनक सब हैरान रह गए। टेलिग्राॅफ पर छपी एक खबर के मुताबिक, रूट ने गैबरियल से कुछ पसर्नल बोला था हालांकि उनकी बात स्टंप माइक में तो रिकाॅर्ड नहीं हुर्इ। मगर स्कार्इ स्पोर्ट्रस की एक फुटेज में रूट को यह कहते देखा गया कि, 'गे होने में कुछ गलत नहीं है।' रूट ने एेसा क्यों कहा, इसको लेकर अब तक सस्पेंस है।
मैदान पर पर्सनल बात करने पर इस खिलाड़ी को icc ने चार मैच के लिए बाहर निकाल दिया
आखिर रूट ने एेसा क्यों कहा

मैच के बाद रूट से जब पूछा गया कि गैबरियल ने उनसे क्या कहा था? इसके जवाब में रूट कहते हैं, 'अक्सर लोग मैदान पर कुछ एेसा कह जाते हैं कि बाद में उन्हें इसका पछतावा होता है। मगर इन बातों को मैदान तक ही सीमित रखना चाहिए। ये टेस्ट क्रिकेट है। गैबरियल काफी भावुक हैं, वह अपनी टीम को जीत दिलाने के लिए हरसंभव कोशिश करते हैं। वह एक अच्छे खिलाड़ी हैं आैर शानदार प्रदर्शन कर रहे। टेस्ट में बेस्ट की ये लड़ार्इ वाकर्इ रोचक है।'

गैबरियल ने कुछ एेसा कह दिया कि रूट नहीं बता पा रहे सबको

रेडियो पर सुना हार रही है टीम, टैक्सी पकड़ अस्पताल से सीधे मैदान पहुंच गया खेलने

Cricket News inextlive from Cricket News Desk