- इलाहाबाद-जयपुर, संगम एक्सप्रेस के बाद श्रमशक्ति एक्सप्रेस को उत्कर्ष योजना के तहत किया जा रहा अपग्रेड

- जुलाई के आखिर तक रेलवे पैसेंजर्स एसी कोचों में नई सुविधाओं के साथ कर सकेंगे सफर

kanpur। रेलवे बोर्ड ने उत्कर्ष प्रोजेक्ट के तहत इलाहाबाद-जयपुर, संगम एक्सप्रेस के बाद कानपुर से दिल्ली चलने वाली श्रमशक्ति एक्सप्रेस को अपग्रेड करने की योजना बनाई है। जिसकी कवायद भी इलाहाबाद डिविजनल के अधिकारियों ने शुरू कर दी है। सीपीआरओ एनसीआर अजीत कुमार सिंह ने बताया कि एक-दो माह के अंदर श्रमशक्ति एक्सप्रेस के कोचों को भी अपग्रेड करने का काम शुरू हो जाएगा। जिससे पैसेंजर्स का सफर और भी आरामदायक व सुखद हाे जाएगा।

रायबरेली में अपग्रेड हो रहे कोच

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक उत्कर्ष प्रोजेक्ट के तहत कोचों को अपग्रेड करने का काम रायबरेली स्थित कोच निर्माण फैक्ट्री में किया जा रहा है। जहां इलाहाबाद डिविजनल के दो ट्रेनों के कोच लगभग अपग्रेड किए जा चुके हैं। जून के अंत तक श्रमशक्ति के कोच अपग्रेड करने का काम भी शुरू हो जाएगा।

ये फेसिलिटीज मिलेंगी

- कोचों में एलईडी लाइटिंग

- अपग्रेड टॉयलेट

- कोचों में सिल्वर मैटेलिक

- सभी कोचों में सूचना बोर्ड

- गैंगवे में विनाइल रैपिंग

- कोचों में वाईफाई की सुविधा

- सभी कोचों में फायर कंट्रोल सिलेंडर

आंकड़े

400 करोड़ रुपए का है उत्कर्ष प्रोजेक्ट

640 ट्रेनों के कोच देश में अपग्रेड होने हैं

38 ट्रेनें एनसीआर जोन की अपग्रेड होंगी

3 ट्रेने इलाहाबाद डिविजनल की प्रोजेक्ट में

कोट

उत्कर्ष प्रोजेक्ट के तहत कोचों को अपग्रेड कर विभिन्न सुविधाओं से लैस किया जा रहा है। इलाहाबाद-जयपुर, संगम एक्सप्रेस के बाद श्रमशक्ति एक्सप्रेस के कोचों को भी अपग्रेड किया जाएगा।

अजीत कुमार सिंह, एनसीआर, सीपीआरओ