lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जयंती पर सपा के मंच को साझा करके पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा और शत्रुघ्न सिन्हा ने सियासी माहौल को गर्मा दिया। गुरुवार को कायस्थ समाज के बैनर पर आयोजित कार्यक्रम में दोनों पूर्व मंत्रियों ने भाजपा सरकारों को जम कर कोसते हुए अखिलेश यादव को नया सितारा बताया और उनकी खूब सराहना की। साथ ही यूपी और बिहार से भाजपा के संपूर्ण सफाए का संकल्प भी दिलाया। समारोह में पूर्व मुख्य सचिव आलोक रंजन और पूर्व लोकायुक्त एससी वर्मा जैसे सेवानिवृत्त अधिकारी भी मौजूद थे।

लोहिया जयंती समारोह में दिया महागठबंधन पर जोर
सपा मुख्यालय स्थित लोहिया सभागार में गुुरुवार को आयोजित जयंती समारोह में लोकसभा चुनाव से पहले महागठबंधन की जरूरत पर जोर दिया गया। कहा  कि अगर अभी नहीं चेते तो बड़ी देर हो जाएगी। यशवंत सिन्हा ने कहा कि देश के हालात आपातकाल से बदतर हैं और लोकतांत्रिक संस्थाएं खतरे में हैं। वर्ष 1977 वाली जीत दोहराने की जरूरत है। दुर्योधन और दुशासन से लडऩे का समय आ गया। यशवंत का कहना था कि केंद्रीय मंत्रीमंडल में शामिल मंत्रियों को मालूम नहीं होता और अहम फैसले ले लिए जाते हैं। उन्होंने विदेश मंत्री को सिर्फ ट्वीट करने वाली बताया। वहीं सपा अध्यक्ष अखिलेश की जमकर तारीफ की। वहीं शत्रुघ्न सिन्हा के फिल्मी अंदाज में दिए भाषण में उन्होंने भाजपा को वन मैन शो और दो लोगों की फौज बताया।

नोटबंदी, जीएसटी आैर राफेल डील पर उठाए सवाल
उन्होंने कहा कि अब जुमलेबाजी और खोखले वादे नहीं चलेंगे। नोटबंदी, जीएसटी और राफेल डील जैसे मुद्दे भी उठाए। सपा में शामिल होने के प्रश्न का सीधे उत्तर न देकर उन्होंने कहा कि हम सब एक परिवार की तरह से हैं। अखिलेश मुझे मौका दें या मैं अखिलेश को मौका दूं, बात एक ही है। वहीं अखिलेश ने गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमले की निंदा की। शीर्ष पदों पर बैठे भाजपा नेताओं की चुप्पी पर हैरानी जताते हुए उन्होंने कहा कि यूपी पॉलिटिकल स्टेट है और यहां से देश की राजनीतिक दिशा तय होती है। इस मौके पर ओपी श्रीवास्तव, सर्वेश अस्थाना, दीपक रंजन और रामगोविंद चौधरी भी मौजूद थे।

तेलंगाना विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी उतारेगी सपा
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से गुरुवार को तेलंगाना समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष प्रो। एस। सिमहाद्री ने भेंट कर तेलंगाना के विधानसभा चुनाव में पार्टी को चुनाव लडऩे की अनुमति देने का अनुरोध किया। उन्होंने अखिलेश को प्रस्तावित प्रत्याशियों की सूची भी सौंपी। प्रो। सिमहाद्री ने बताया कि तेलंगाना में सपा सक्रिय रूप से कार्य करने में जुटी हुई है और पहली बार तेलंगाना प्रदेश में विधानसभा चुनाव में भाग लेने जा रही है। वहीं अखिलेश ने तेलंगाना समाजवादी पार्टी के संगठन पर चर्चा करते हुए पार्टी को चुनाव लडऩे पर सहमति दी और कहा कि सपा अन्य प्रदेशों में भी पार्टी के विस्तार के उद्देश्य से विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी उतारेगी।

National News inextlive from India News Desk