-दूसरे दिन भी मंदिरों के अंदर रेला, बाहर तक मेला

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: रविवार के बाद सोमवार को भी प्रयागवासियों ने भगवान श्रीकृष्ण की जन्माष्टमी धूमधाम के साथ मनाई. इस दौरान कृष्ण भक्तों ने योग, नक्षत्र एवं मुहूर्त के अनुसार दूसरे दिन भी पूरे विधि विधान से पूजा अर्चना की. परम पुण्यदायक एवं प्रसिद्ध पर्व का आरंभ अष्टमी तिथि रविवार को शाम 05 बजकर 09 मिनट से प्रारम्भ होकर सोमवार को दोपहर दिन में 03 बजकर 29 मिनट तक व्याप्त था. साथ ही रोहिणी नक्षत्र भी रविवार की सायं 06 बजकर 29 मिनट से प्रारम्भ होकर अगले दिन सोमवार को दिन में 05 बजकर 35 मिनट तक व्याप्त रहा.

वैष्णवजनों के लिए खास रहा दिन

इस प्रकार रविवार को ही जयन्ती योग में श्रीकृष्णावतार के बाद उदया तिथि अष्टमी एवं उदय कालिक रोहिणी नक्षत्र को मानने वाले वैष्णव जनो ने सोमवार को श्रीकृष्ण का व्रत पर्व मनाया. सोमवार को शहर में राधा कृष्ण के मंदिरों में भगवान के दर्शन एवं उनकी मनमोहक झांकियों को देखने के लिए बड़ी संख्या में भक्तों के आने जाने का सिलसिला भी चलता रहा. इस दौरान मंदिरों के बाहर मेले जैसा माहौल दिखा. जहां चाट की दुकानो और झूलों के आसपास बच्चों की भारी भीड़ जमा रही.

वेद के विशेष मंत्रों से आहुतियां

इस अवसर पर बमरौली एयरफोर्स हैप्पी होम मंदिर में कार्यक्रम का आयोजन धूमधाम से किया गया. इसमें मुख्य दुर्ग अभियंता वायुसेना बमरौली, इंजीनियर परमिन्दर सिंह, सहायक दुर्ग अभियंता अजय गुप्ता, नायब सूबेदार हरीश, अभियंता राहुल पांडेय, मंदिर के प्रबंधक राजबहादुर आदि शामिल हुए. आर्य समाज मुंडेरा बाजार प्रयाग वेद प्रचार पखवाड़े के अन्तर्गत भगवान का समारोह श्रद्धा एवं उत्साह के साथ नीम सरांय कालोनी में मनाया गया. इसमें चारों वेद के विशेष मंत्रों से आहुतियां प्रदान कर सामूहिक देव यज्ञ आचार्य ब्रम्हमुनि शास्त्री ने सम्पन्न करवाया.

बृज की होली, मां काली का तांडव

आर्य समाज चौक प्रयाग के तत्वावधान में चल रहे नौ दिवसीय यजुर्वेद परायण यज्ञ तथा वेद प्रचार का समापन यज्ञ की पूर्णाहुति के साथ सम्पन्न हुआ. इस अवसर पर गुरूकुल महाविद्यालय के आचार्य पं. अशर्फीलाल आर्य मौजूद रहे. आर्य समाज चौक सभागार में कृष्ण जन्मोत्सव आयोजित किया गया. आर्य समाज कटरा प्रयाग की ओर से श्रीकृष्ण जनमोत्सव पर स्थानीय विद्वानो के प्रवचन करवाए गए. पुलिस लाइन्स में हुए सांस्कृतिक कार्यक्रमों की कड़ी में गुरूकुल मांटेसरी स्कूल के बच्चों ने प्रस्तुतियां दी. यहां बृज की होली, ढेढि़या नृत्य, राधा कृष्ण नृत्य आदि आयोजन हुए. वहीं महाकालेश्वर तांडव, महाकाली नृत्य, सीताराम दर्शन, महिषासुर वध भी दिखाए गए.

दिव्य दर्शन के साथ अखंड कीर्तन भी

श्रीकृष्ण भवन लूकरगंज में बालरूपी कृष्ण की आकर्षक झाकियों का प्रदर्शन, आरती एवं प्रसाद वितरण किया गया. श्री निम्बार्क आश्रम बाई का बाग में महन्त स्वामी राधा माधव दास की अध्यक्षता में दिव्य झांकी, सत्संग, अखंड कीर्तन, भक्ति संगीत संध्या का आयोजन किया गया. श्री पथरचट्टी रामलीला कमेटी की ओर से कृष्ण जन्म के छह दिवसीय महोत्सव के तहत रामराज यादव की संगीत पार्टी द्वारा मंच पर सत्य की परीक्षा- बेटे का बलिदान नौटंकी ने गंवई मंच संस्कृति को साकार किया.

आनंद बिहारी मंदिर में उत्सव

उधर, शाहगंज स्थित आनंद बिहारी मंदिर में उत्सव हर बार की तरह इस बार भी करवाया गया. इस दरम्यान पूरे दिन मंदिर में भक्तों का जमावड़ा लगा रहा. मंदिर परिसर में भजन कीर्तन करवाए गए. जिसमें भक्तों ने जयकारे लगाते हुए कृष्ण बिहारी की लीला का आनंद उठाया. इसमें मुख्य अतिथि आईएफएस विनोद कृष्ण सिंह, आभा सिंह, आनंद नारायण सिंह, अनुपम सिंह, अवनीश सिंह, शान्तनु सिंह, मधुरेश सिंह, अल्पना सिंह आदि ने कार्यक्रम को सफल बनाने की योगदान दिया.