शिवपाल यादव ने बाढ़ राहत में शिथिलता नहीं बरतने का दिया निर्देश

सीएमओ के खिलाफ शिकायत मिली तो जमकर लगाई फटकार

डीएम से बोले, लेखपाल काम न करे तो उसका चार्ज कानूनगो को दो

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: बाढ़ राहत कार्य में जो काम न करे उसे सस्पेंड करो. इस कार्य में लापरवाह अधिकारियों को कतई न बख्शा जाए. हर अधिकारी अपने स्तर से बाढ़ पीडि़तों की मदद में जुट जाएं. शनिवार को इलाहाबाद पहुंचे पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर शिवपाल यादव ने सर्किट हाउस में बाढ़ राहत कार्यो की समीक्षा की. इस दौरान जनप्रतिनिधियों की शिकायत पर उन्होंने सीएमओ को जमकर फटकार लगाई. साथ ही डीएम संजय कुमार को निर्देश दिया कि यदि ये भविष्य में ऐसा करें तो इन्हें तत्काल कार्यमुक्त कर दिया जाए.

निशुल्क दवा वितरण कैंप लगाएं

मंत्री ने बाढ़ का पानी कम होने पर संक्रामक रोगों की संभावना को देखते हुए नगर आयुक्त और सीएमओ को प्रभावित क्षेत्रों में चूना, ब्लीचिंग पावडर के छिड़काव के साथ फागिंग कराने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि प्रभावित इलाकों की साफ सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए. निशुल्क दवा वितरण कैंप लगाने के साथ पशुओं के टीकाकरण और चारा उपलब्ध कराने पर भी जोर दिया.

7.5 करोड़ दिए हैं और देंगे

शिवपाल यादव ने बताया कि सरकार ने बाढ़ राहत के लिए इलाहाबाद को 7.5 करोड़ रुपए दिए हैं. जरूरत पड़ने पर और मदद दी जाएगी. उन्होंने डीएम से कहा कि बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में लेखपाल कार्य न करें तो उनका बस्ता रखवाकर कानूनगो को चार्ज दें. उन्होंने बाढ़ क्षेत्रों में सहायता में किसी प्रकार की कमी नहीं होने देने का निर्देश दिया. जिलापूर्ति अधिकारी को मिट्टी का तेल और गुणवत्तापूर्वक राशन उपलब्ध कराने के आदेश दिए. जो लोग राहत शिविरों से घरों को वापस जा रहे हैं उन्हें सूखा राशन दिया जाए. अधिकारियों के साथ ही जनप्रतिनिधि और विधायक भी प्रभावित क्षेत्रों में जाकर लोगों को राहत प्रदान करें.

कब्जे पर सख्ती दिखाएं

मंत्री ने कहा कि कछार के इलाकों में किसी भी हाल में मकान न बनने दें. यदि कहीं सरकारी जमीनों पर कब्जा हो रहा है तो प्रशासन तत्काल एक्शन ले. उन्होंने बाढ़ राहत शिविर ऋषिकुल स्कूल के भ्रमण के दौरान सिविल डिफेंस के चीफ वार्डेन अनिल अग्रवाल और उनकी टीम को बेहतर राहत कार्य और प्रशासन के सहयोग के लिए बधाई दी. समीक्षा बैठक में विधायक गामा पांडेय, विजय यादव, डॉ. अजय कुमार, परवेज आलम, जिला पंचायत अध्यक्ष रेखा सिंह, कमिश्नर राजन शुक्ला, डीएम संजय कुमार समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे.