स्कूल-कॉलेज में पढ़ने वाली छात्राओं का घर से निकलना दूभर

बेखौफ होकर सरेराह अश्लील कमेंट के साथ करते हैं छेड़छाड़

MEERUT: शहर में छात्राओं के साथ छेड़खानी के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे है। कंट्रोल रूम पर रोजाना 20-25 शिकायतें पहुंच रही हैं, जिनमें लगभग आधा दर्जन शिकायतें दर्ज की जाती हैं। कंकरखेड़ा, टीपीनगर और लिसाड़ीगेट छेड़खानी में टॉप पर हैं तो लालकुर्ती, रेलवे रोड में अपेक्षाकृत हल्की सी राहत है। पुलिस भी शहर के मनचलों के आगे फेल हो गई है। एक हफ्ते में ही छेड़खानी के 8 केस सामने आ चुके है। जिसमें एक महिला ने छेड़खानी से तंग आकर मौत को भी गले लगा ि1लया है।

दबंगई से परेशान

कालेज में पढ़ने वाली युवतियां शोहदों से परेशान हो चुकी है.मनचलों की दबंगी के कारण पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती। जिससे मनचलों के हौंसले बढ़ जाते है। आखिरकार युवतियां परेशान होकर मौत को गले लगा लेती है।

एंटी रोमियो स्क्वायड ठप

सूबे में छेड़छाड़ की घटनाओं को रोकने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हर जिले में एंटी रोमियो स्क्वायड दल के गठन के आदेश दिए थे। इसके तहत मेरठ में भी एंटी रोमियो स्क्वायड का गठन किया गया था, जिसकी डयूटी महिला कालेज, स्कूल, भीड़भाड़ वाले स्थानों पर लगाई गई थी, लेकिन कुछ दिन तो एंटी रोमियो स्क्वायड कालेजों के बाहर तैनात दिखी। लेकिन इसके बाद अब वह नदारद नजर आती है। जिससे शहर में लगातार छेड़छाड़ की घटनाएं बढ़ रही है।

छेड़खानी के स्पॉट

कंकरखेड़ा, आबूलेन, बेगमपुल, आरजी कालेज के बाहर, मेरठ कॉलेज के बाहर, एनएएस कालेज, वेस्ट एंड रोड स्थित स्कूलों के बाहर, शास्त्री नगर, लालकुर्ती, सदर बाजार, राजकीय इंटर कालेज लिसाड़ी गेट के बाहर

सुरक्षा के इंतजाम

- ट्रैफिक एंजिल पुलिस बल

- परिवार परामर्श केंद्र

- एंटी रोमियो स्क्वायड

- शक्ति वाहन

- महिला शक्ति पुलिस

- पुलिस महिला सेल

- एंटी रोमियो ट्रैफिकिंग यूनिट

- महिला थाना

- वूमन सेल

छेड़खानी के मामले

कंकरखेड़ा - 96

टीपी नगर - 88

लिसाड़ी गेट - 82

ब्रह्मपुरी - 75

गंगानगर - 60

देहली गेट - 55

मेडिकल - 54

नौचंदी - 52

परतापुर - 49

सदर कोतवाली - 48

सिविल लाइन - 48

पल्लवपुरम- 42

शहर कोतवाली - 34

लालकुर्ती - 31

रेलवे रोड - 24

कुल 838

आंकड़े 1 जनवरी से 30 अप्रैल 2019 तक

- 20-25 छेड़छाड़ की शिकायतें रोजाना आती हैं कंट्रोल रूम पर

ऐसे रूक सकती है छेड़छाड़

- स्कूल, कालेज के बाहर महिला पुलिस बल तैनात किया जाए।

- 100 डायल की गाड़ी महिला कॉलेज के पास खड़ी की जाए

- शहर के चौराहों पर पुलिस चौकी इंचार्ज व बीट इंचार्ज डयूटी पर मौजूद हो

- पुलिस अधिकारी अपने अपने सर्किल के हर स्कूल व कालेज में हफ्ते में दो दिन विजिट करें।

यह है छेड़छाड़ के आंकड़े

9 मई 2019 -

ब्यूटी पार्लर संचालिका के साथ छेड़छाड़, दबंगों के कारण ट्रेन के सामने कूद कर की अात्महत्या

24 जनवरी 2019

आरजी इंटर कालेज की छात्रा के साथ दो युवकों ने की थी छेड़छाड़, जिसमें पुलिस ने दो मनचलों को गिरफ्तार भी कर ि1लया था।

12 जनवरी 2019 -

एक इंग्लिश मीडियम स्कूल की चौथी कक्षा की छात्रा के साथ टेंपो चालक ने छेड़छाड़ व अश्लील हरकत

22 अक्टूबर 2018 -

दो मनचले किठौर निवासी दो युवतियों को कार में उठाकर ले गए थे। जिसके चलते जमकर बवाल मचा था।

11 िसतंबर 2018

कंकर खेड़ा थाना क्षेत्र की एक छात्रा के साथ युवकों ने छेड़छाड़ की। इसके बाद उसके कपड़े तक फाड़ दिए। उसकी जमकर पिटाई भी की। परिजनों ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

9 िसतंबर 2018

वेस्ट एंड रोड स्थित असौड़ा हाउस में रहने वाली हास्टल में छात्राओं को एक छात्र काफी दिनों से परेशान कर रहा था। भाजपा की उपाध्यक्ष ने जमकर महिला थाने में हंगामा किया, लेकिन छेड़छाड़ अभी भी बंद नहीं हुई।

9 िसतंबर 2018

गंगा नगर में एक दरोगा की पत्‍‌नी के साथ दुष्कर्म हो चुका है। गंगा नगर में दुष्कर्म का मामला भी दर्ज किया गया है। पुलिस छेड़छाड़ व महिला उत्पीड़न के मामले रोकने में विफल साबित हाे रही है।

6 सितंबर -2018

जागृति विहार में रहने वाले एक पिता ने छेड़छाड़ से तंग आकर जहर खा लिया था। आरोप था कि उनके पड़ोस में रहने वाले ने उनकी बेटी का अपहरण करके दुष्कर्म किया था।

6 सितंबर - 2018

सदर बाजार में एक युवती के साथ छेड़छाड़, मनचले ने युवती के भाई के साथ मारपीट भी की थी।

4 सितंबर - 2018

वेस्ट एंड रोड पर एक छात्रा को दो युवकों ने उठाने का प्रयास किया था। सिविल लाइन में मुकदमा दर्ज किया गया था।

15 अगस्त - 2018

सरधना की नौंवी कक्षा की छात्रा को उसके पड़ोस में रहने वाले चार युवक परेशान कर रहे थे। जब उसने अपने परिजनों से शिकायत की तो युवकों ने उसके उपर केरोसिन डालकर आग लगा दी। जिससे उससे दिल्ली के नर्सिग होम में भर्ती कराया गया था। अस्पताल में 21 दिन के बाद भर्ती होकर उसने दम तोड़ दिया था।

11 जून - 2018

मुंडाली की दो सगी बहनों ने एसएसपी आफिस पर मनचलों से परेशान होकर आत्मदाह का प्रयास किया था।

--------------------------

कोट्स

- छेड़खानी रोकने के लिए पुलिस का एंटी रोमियो स्क्वायड दल दिखाई नहीं देता है जिससे छेड़खानी के मामले बढ़ रहे है।

इला गुप्ता प्राइमरी स्कूल शिक्षिका

-------------

-पुलिस अगर मनचलों पर सख्ती कर दे तो शहर में छेड़खानी के मामले बंद हो सकते है।

डोली शर्मा प्राइमरी स्कूल शिक्षिका

-------------

- अगर शहर में पुलिस रूटिन चैकिंग करे तो स्कूलों व कालेजों के बाहर घूमने वाले मनचलें पकड़े जा सकते है।

रूबीना माइकल

---------------

- शहर में युवतियों व महिलाओं का अकेला निकलना दुभर हो गया है। मनचले युवतियों व महिलाओं को अकेला देखते ही छेड़खानी करनी शुरू कर देते है। पुलिस अगर सख्ती कर दे तो छेड़खानी बंद हो सकती है।

हरिओम शर्मा सीनियर अधिवक्ता

-------------

छेड़खानी को रोकने के लिए एंटी रोमियो स्क्वायड एक्टिव कर दिया है। छेड़खानी की सूचना पर तुंरत ही फोर्स को भेजा जाता है। छह में डेढ़ सौ मनचलों को पकड़कर जेल भी भेजा जा चुका है।

अखिलेश नारायण एसपी सिटी