-200 के नए नोटों के लिए जारी है शहर में लगे एटीएम का कैलीब्रेशन, 100 के नए नोटों के लिए फिर करना पड़ेगा कैलीब्रेशन

-200 के नोटों के कैलीब्रेशन के बाद कैश डिस्पेंस की क्षमता भी हुई कम, फिर से एटीएम रिकैलीब्रेट करने में भी लाखों खर्च

kanpur@inext.co.in

KANPUR: लाखों बैंक कस्टमर्स शहर के एटीएम में कैश की क्राइसिस से परेशान हैं. खबर ये है कि फिलहाल कैश की यह समस्या दूर होने वाली नहीं है. बल्कि और बढ़ सकती है. इस समस्या की असली वजह कैश की कमी नहीं बल्कि 100 के नए नोटों का आना है. क्योंकि नई डिजाइन के इन नोटों को मशीन में डालने के लिए शहर में लगे हजारों एटीएम को फिर से कैलीब्रेट करना पड़ेगा. इससे एटीएम की कैश डिस्पेंस करने की क्षमता पर भी प्रभाव पड़ेगा क्योंकि 2 हजार के नोटों की पहले ही कमी है. ऐसे में भी बार बार छोटो नोटों के लिए एटीएम मशीनों के कैलीब्रेशन से उनकी क्षमता कम हो जाएगी.

एक मशीन का 4 बार कैलीब्रेशन

दरअसल नोटों की किल्लत की एक वजह बार बार ऑटोमेटेड टिलर मशीनों की कैसेट ट्रे का नए नोटों के हिसाब से कैलीब्रेशन भी है. नए नोट नए साइज के हैं ऐसे में नए साइज की कैसेट ट्रे का खर्च बैंकों पर अलग से हैं. जिसमें काफी समय लग जाता है. नोटबंदी के बाद 2000 व 500 के नए नोटों के लिए सभी एटीएम मशीनों को कैलीब्रेट किया गया. उसके बाद 200 रुपए के नोटों के लिए मशीनों को कैलीब्रेट करने का प्रॉसेस अभी भी जारी है और अब जब आरबीआई ने नए साइज के 100 के नोट जारी किए हैं. तो उनके लिए भी मशीनों को कैलीब्रेट किया जाएगा. इसमें एक तकनीकी पहलू यह भी है कि पुराने 100 रुपए के नोट भी चलते रहेंगे तो कितनी मशीनों 100 के नए नोट के लिए कैलीब्रेट की जाएंगी. इस पर भी सवाल है. वहीं अब 50 रुपए के नए नोटों के लिए भी कैलीब्रेशन शुरू हुआ है. जिसके लिए पुराने एटीएम को फिर से अपडेट किया जा रहा है.

10 फीसदी से ही निकलेंगे 100 के नोट

बैंकों ने आटोमेटेड टेलर मशीनों से बड़े नोटों की संख्या कम करने के साथ ही छोटे नोट ज्यादा डालना शुरू किया है. वहीं बैंकों के उच्चअधिकारियों के बातचीत में वह मानते हैं कि 100 के नए नोटों के लिए सभी एटीएम कैलीब्रेट नहीं करेंगे. बल्कि सिर्फ 10 फीसदी एटीएम से ही नए नोट डिस्पेंस करने के इंतजाम हैं. ज्यादातर बैंकों की ई गैलरी व ई कार्नर में लगी आटोमेटेड टेलर मशीनों को हर तरह के नोटों को डिस्पेंस करने के लिए कैलीब्रेट किया जा रहा है. बड़े नोट कम पड़ने से इनके नोट डिस्पेंस करने की क्षमता स्वत ही कम हो जाएगी.

-----------------------

100 के नए नोट व पुराने नोट में फर्क

पुराने नोट की लंबाई-157 एमएम

चौड़ाई-73 एमएम

नए नोट की लंबाई- 142 एमएम

चौड़ाई-66एमएम

50 के नए व पुराने नोट में फर्क

पुराने नोट की लंबाई- 147एमएम

चौड़ाई-73

नए नोट की लंबाई-135

चाैड़ाई- 66

200 रुपए के नाेट का साइज-

लंबाई- 146एमएम

चौड़ाई- 66एमएम

----------------

फैक्ट फाइल-

50 नेशनलाइज्ड, प्राइवेट और ग्रामीण बैंक कानपुर में

770 बैंकों की शाखाएं शहर में

1400 एटीएम सभी बैंकों के कानपुर में

55 करोड़ की रोज की नोट निकासी एटीएम के जरिए

40 लाख एटीएम कार्ड धारक कानपुर नगर में