- कैसा लग रहा है कॉमेडी सर्कस से जुड़कर?
- बेशक बहुत अच्छा लग रहा है. ब्रांड के साथ जुड़कर किसे अच्छा नहीं लगता है. यहां सभी बड़े लोग काम कर रहे हैं. जज भी काफी एक्सपीरियंस हैं. वहीं सुदेश, कृष्णा, वीआईपी जैसे कलाकारों से भी बहुत कुछ सीखने को मिलता है.

- कामेडी अब डबल मीनिंग हो गई है?
- कुछ लोग करते हैं. लेकिन मेरा मानना है कि ये समझने वाले की सोच पर डिपेंड करता है. ऐसे डॉयलाग नहीं बोलने चाहिए कि जो फैमिली नहीं सुन सके.

- आपको लगता है कपिल करते हैं डबल मीनिंग?
- नहीं मुझे नहीं लगता कि कपिल डबल मीनिंग करते हैं.


- कॉमेडी नाइटस विद कपिल आज बुलंदियों पर हैं और कॉमेडी सर्कस को कहां पाते हैं?
- इन दोनों में कम्पेरीजन का कोई सवाल ही नहीं है. वो एक ड्रामा शो है. जबकि हमारा कॉमेडी सर्कस अलग थीम का है.

- अभी आने वाले प्रोजेक्ट क्या हैं?
- अभी मैं एक सब टीवी के लिए सीरियल करने जा रहा हूं और भी कई प्रोजेक्ट हैं लेकिन अभी डिसक्लॉज नहीं कर सकता हूं.

- कॉमेडी लाइन में कैसे आना हुआ?
- मैं पंजाब से हूं और वहां के लोग मस्त होते हैं. ऐसे में मुझमें भी थोड़ी सी क्वालिटी आ गई. मैं अपने जोक्स मारता था और लोग हंसते थे. तब कई लोगों ने सजेस्ट किया कि मैं कॉमेडी लाइन में जाऊ. बस ये किया और अब हूं मैं इस फिल्ड में.