क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : 51वें श्री श्याम महोत्सव के दूसरे दिन अग्रसेन पथ स्थित श्री श्याम मंदिर से विराट शोभायात्रा निकाली गई. इसमें आगे बैंड बाजा और ताशा पार्टी चल रही थी. वहीं भक्त श्रीश्याम प्रभु का जयकारा लगा रहे थे. हाथों में निशान लिए सैकड़ों भक्त शोभायात्रा में साथ चल रहे थे. वहीं श्री कृष्ण लीला पर आधारित झांकियां शोभा बढ़ा रही थीं. इस दौरान रास्ते में जगह-जगह पुष्प वर्षा कर भक्तों ने जयकारा लगाया. वहीं काफी संख्या में नर-नारी श्री श्याम प्रभु की आरती-पूजा के लिए कतारबद्ध खड़े थे. शोभायात्रा संचालन कमिटी के मनोज सिंघानिया, प्रमोद बगडि़या, अरुण धानुका, राकेश मुरारका, अशोक लाठ, विकास पडि़या, सुनील मोदी, राजेश अग्रवाल, लल्लू सारस्वत, सुदर्शन चितलांगिया ने अहम योगदान दिया.

नगर भ्रमण को निकले प्रभु

शोभायात्रा का मुख्य आकर्षण दिव्य रथ पर विराजमान श्री श्याम प्रभु का अलौकिक शीश था, जो कमल के फूल पर विराजमान था. नगर भ्रमण पर निकले प्रभु का आशीष पाने के लिए हजारों भक्त घंटों इंतजार करते रहे. यात्रा के दौरान रास्ते में सभी को प्रसाद भी बांटे गए. वहीं मधुर संगीतमय भजनों पर भक्त झूम रहे थे. मुख्य मार्गो का भ्रमण करती हुई शोभायात्रा वापस अग्रसेन पथ स्थित श्री श्याम मंदिर पहुंची.