स्ढ्ढरूष्ठश्वद्दन् : बोलबा थाना क्षेत्र में ठेठईटांगर से केरसई भाया बोलबा तक सड़क का निर्माण करा रही बर्बरीक कंपनी से लेवी राशि लेने आए डी कंपनी के 12 अपराधियों को पुलिस ने खदेड़कर गिरफ्तार कर लिया गया. गिरफ्तार अपराधियों में सुमित डुंगडुंग, श्रवण दास, बाबू मजूमदार, रंजीत उरांव, पवन उरांव सुदेश महली, रामचंद्र महली, गणेश उरांव, दिनेश गोप जतरू उरांव, अनीस खां तथा छोटु कुमार महतो शामिल हैं. वहीं डी कंपनी के सुप्रीमो दीपनारायण सिंह व जितेन्द्र विश्वकर्मा भागने में सफल रहे. उनके पास से पुलिस ने 4 देसी कट्टा, 6 बम, 8 चक्र गोली, बारुद, 8 मोबाईल व सीम कार्ड, 2 गैलन में भरे पेट्रोल व बोलेरो बरामद किया है.

कई मामलों में थी तलाश

एसपी संजीव कुमार ने बताया कि डी कंपनी आपराधिक संगठन के द्वारा सिमडेगा में अपनी पैठ बनाने के बारे में सूचना मिल रही थी. इस दौरान जानकारी मिली की ठेठईटांगर-केरसई भाया बोलबा मार्ग के निर्माण कार्य करा रहे बर्रबरीक कंपनी के कर्मियों से लेवी लेने आने वाला है. इसके उपरांत डीएसपी नौशाद आलम के नेतृत्व में टीम का गठन कर कंपनी के शिविर के पास भेजा गया.इस दौरान जब अपराधी राशि लेने पहुंचे तो पुलिस ने सभी को खदेड़ कर पकड़ लिया गया.

गैंग का लगभग हो चुका है सफाया

एसपी ने बताया कि सुमित डुंगडुंग कुछ माह पूर्व कोलेबिरा में सड़क निर्माण कार्य करा रहे कंपनी के मुंशी की गोली मारकर हत्या करने के मामले में आरोपी है. वहीं श्रवण दास बम बनाने का स्पेशलिस्ट है. उन्होंने बताया कि डी कंपनी का पुलिस ने लगभग सफाया कर दिया है. पूर्व में भी इसके 6 सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है.

रोड कंस्ट्रक्शन को दी थी बंद करने की धमकी

बर्बरीक कंपनी के द्वारा ठेठईटांगर-केरसई भाया बोलबा सड़क निर्माण कार्य के दौरान गत दिनों उसके शिविर पर अज्ञात अपराधियों के द्वारा उपद्रव मचाने का कार्य किया जा चुका है. इस दौरान अपराधियों द्वारा कर्मियों को कार्य बंद करने और उस स्थान से भाग जाने की धमकी दी गई थी.