प्रयागराज परिक्षेत्र के सिविल लाइंस डिपो को मिली छह पिंक बसें

चार लखनऊ से प्रयागराज तो दो बसें गोरखपुर से प्रयागराज

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: रोडवेज की बसों में आमतौर पर महिला व पुरुष के लिए अलग-अलग सीटें निर्धारित होती है। लेकिन शासन ने पहली बार महिला सुरक्षा और उनके सफर को सुहाना बनाने के लिए खासतौर से आधुनिक सुविधाओं से युक्त वातानुकूलित पिंक बसों का तोहफा दिया है। इसके लिए उप्र राज्य सड़क परिवहन निगम की ओर से प्रयागराज परिक्षेत्र में छह पिंक बसों की सुविधा प्रदान की गई है। चार पिंक बसें लखनऊ से प्रयागराज के लिए चलना शुरू हो गई हैं। गोरखपुर से प्रयागराज के लिए आने वाली दो बसों की टाइमिंग का निर्धारण अभी नहीं किया जा सका है।

04 बसें प्रयागराज से लखनऊ की ओर जाएंगी। सिविल लाइंस डिपो से होगा संचालन।

44 सीटर हैं सभी बसें, हर बस पर दो महिलाएं यात्रा कर सकेंगी।

02 बसें गोरखपुर से प्रयागराज के लिए उपलब्ध कराई गई हैं। टाइमिंग का निर्धारण होते ही अप्रैल के पहले हफ्ते से होगी शुरुआत होगी।

334 रुपए होगा इन वातानुकूलित पिंक बसों का किराया।

ऐसी होगी लखनऊ के लिए टाइमिंग

पहली बस सुबह 7.45 बजे

दूसरी सुबह 8.45 बजे

तीसरी सुबह 9.45 बजे

चौथी बस पूर्वान्ह 10.45 बजे

यह मिलेंगी सुविधाएं

-प्रत्येक सीट पर पैनिक बटन लगाया गया है।

-बटन दबाते ही सीधे सौ नंबर पर सूचना जाएगी।

-सुरक्षा के लिए प्रत्येक बस में सीसीटीवी कैमरा भी लगाया गया है।

-निगरानी के लिए एक इंटर सेप्टर वाहन भी है, जो 100 नंबर से लिंक्ड है।

- वाहन में एक महिला कर्मचारी के साथ टीम लखनऊ से प्रयागराज रूट पर तैनात रहेगी।

-बस में विस्फोटक, छेड़खानी व अराजकता की स्थिति में पैनिक बटन दबाते ही इंटरसेप्टर वाहन बस को अटैंड कर लेगा।

फैमिली साथ होने पर ही पुरुषों को एंट्री

यह बस सिर्फ महिलाओं की यात्रा के लिए हैं लेकिन किसी फैमिली के साथ पुरुष होंगे तो उन्हें भी सीट उपलब्ध कराई जाएगी।

वर्जन

मार्च के पहले सप्ताह में मुख्यालय स्तर से महिलाओं की यात्रा को सुलभ और सुरक्षित करने के लिए छह पिंक बसों की सुविधा मुहैया कराई गई है। सबसे बड़ी विशेषता यह है कि किसी भी दुर्घटना से निपटने के लिए पैनिक बटन हर सीट पर दी गई है। इंटरसेप्टर वाहन हर मुश्किल का समाधान करने के लिए लखनऊ से प्रयागराज रूट पर मौजूद रहेगा।

Xअवधेश कुमार पाल, कार्यवाहक एआरएम, सिविल लाइंस डिपो