बेहद चौकाने वाला जवाब
हाल ही में वैराइटी में पब्‍लिश रिपोर्ट के मुताबिक स्नैपचैट के सीईओ इवान स्पीगल ने 2015 में भारत को लेकर एक बड़ा कमेंट किया था। वह स्नैपचैट ऐप के यूजर्स बेस के ग्रोथ को लेकर हो रही बैठक में भाग ले रहे थे। इस दौरान जब एक कर्मचारी ने भारत जैसे बड़े बाजार में ऐप के धीमे विस्तार का मामला उठाया तो इवान ने बेहद चौकाने वाला जवाब दिया।

स्नैपचैट के सीईओ ने भारत को कहा गरीब,लोगों का फूटा गुस्सा

एंथनी पंपलियानो का आरोप
इवान स्पीगल का कहना था कि स्‍नैपचैट ऐप केवल अमीर लोगों के लिए है। भारत और स्‍पेन जैसे देशों के लिए नहीं है। भारत बिजनेस बढ़ाने के नजरिए से गरीब देश है। हालांकि स्नैपचैट के सीईओ इवान स्पीगल पर जिस एंथनी पंपलियानो ने आरोप लगाया है। वह स्‍नैपचैट के पूर्व कर्मचारी हैं। स्‍नैपचैट का यह नया फीचर आ सकता है फेसबुक पर भी

स्नैपचैट के सीईओ ने भारत को कहा गरीब,लोगों का फूटा गुस्सा

इवान को आड़े हाथों ले रहे
इस पूरे मामले पर स्नैपचैट के प्रवक्‍ता का कहना है कि स्‍नैपचैट सबके लिए है। एंथनी पंपलियानो ने यह विवाद जानबूझकर खड़ा किया है। उसे करीब तीन हफ्ते पहले खराब प्रदर्शन की वजह से कंपनी से निकाल दिया बया था। इनका कंपनी के साथ मुकदमा भी चल रहा है। वहीं जब इवान का यह बयान सामने आया है। सोशल मीडिया यूजर्स ने इवान को आड़े हाथों लेना शुरू कर दिया है।

स्नैपचैट के सीईओ ने भारत को कहा गरीब,लोगों का फूटा गुस्सा

अनस्‍टाल्‍ा करने की धमकी
ट्वीटर जैसे प्‍लेटफॉर्म पर लोग आज इवान स्पीगल पर अपने-अपने तरीके से गुस्‍सा निकाल रहे हैं। बहुत से यूजर्स तो इसे अनस्‍टाल तक करने की बात कह रहे हैं। बतादें कि स्‍नैपचैट यूजर्स की संख्‍या में यहां पर काफी तेजी से बढ़ रही है। अगर कुछ रिपोर्ट की मानें तो वर्तमान में भारत में स्‍नैपचैट यूजर्स की संख्‍या करीब 40 लाख से ज्यादा की है।
स्नैपचैट के सीईओ ने भारत को कहा गरीब,लोगों का फूटा गुस्सा

164 साल पहले सवा घंटे में 33.7 Km चली थी भारत की पहली पैसेंजर ट्रेन, ये हैं भारत की सबसे लंबी दूरी वाली पांच रेलगाड़ियां

 Interesting News inextlive from Interesting News Desk

Interesting News inextlive from Interesting News Desk