- यूनिवर्सिटी गेट के पास लगातार हो रहीं लूट और छिनैती की वारदातें

- बाइक सवार बदमाश लगातार पुलिस को दे रहे चुनौती

GORAKHPUR: क्राइम कंट्रोल के दावों में व्यस्त गोरखपुर पुलिस मेन सिटी में ही लुटेरों से पस्त हो जा रही है. वाहन चेकिंग में कभी-कभी बदमाशों को पकड़ अपनी पीठ थपथपाने वाली पुलिस की नाक के नीचे सिविल लाइंस एरिया की यूनिवर्सिटी रोड बाइक सवार लुटरों के लिए सेफ जोन बन गई है. आए दिन यहां से गुजरने वाले राहगीरों के साथ लूट, छिनैती की घटनाएं आम हो गई हैं. सिटी के बीचोंबीच बदमाशों के बेखौफ इरादे पुलिस की सक्रियता पर सवाल खड़े कर रहे हैं. सोमवार को भी यूनिवर्सिटी गेट के पास ही बाइक सवार लुटेरों ने प्रोफेसर का पर्स लूट लिया. जबकि एक दिन पहले ही इसी स्थान पर लुटेरे छात्रा का पर्स लूट कर फरार हो गए थे.

प्रोफेसर का पर्स, फरार हो गए बदमाश

बीते कुछ महीनों में यूनिवर्सिटी रोड पर सबसे ज्यादा लूट की वारदातें हुई हैं. गुरुवार सुबह 8.30 बजे बाइक सवार बदमाशों ने डीडीयूजीयू के शिक्षा विभाग की प्रोफेसर सुषमा पांडेय का पर्स लूट लिया और मौके से फर्राटा भरते फरार हो गए. जबकि चंद कदम पर ही पुलिस चौकी और सुरक्षा के चाकचौबंद इंतजाम हैं. कैंट थानाक्षेत्र के हीरापुरी कॉलोनी में रहने वाली प्रो. सुषमा पांडेय सुबह रिक्शे से गोरखपुर यूनिवर्सिटी आ रही थीं. यूनिवर्सिटी गेट से थोड़ा पहले एक बाइक पर सवार दो बदमाश आए और झपट्टा मार उनकी पर्स लूटकर फरार हो गए. भागते समय बदमाशों ने दो छात्राओं को टक्कर मारकर घायल कर दिया. डीएम आवास की ओर बदमाश फरार हो गए. सुषमा पांडेय ने बताया कि उनके पर्स में 5000 रुपए कैश, चाभी, आधार कार्ड व जरूरी कागजात थे.

बॉक्स

एक दिन पहले ही छात्रा से हुई लूट

कैंट एरिया के यूनिवर्सिटी गेट के पास बुधवार को बाइक सवार बदमाशों ने एक छात्रा का बैग लूट लिया था. छात्रा जब तक चिल्लाती और आवाज सुनकर आसपास के लोग पहुंचते तक तक बदमाश फरार हो गए. छात्रा रिक्शे से अपने एक सहयोगी के साथ डॉक्टर को दिखाने छात्रसंघ चौराहा जा रही थी. छात्रा के अनुसार बैग में मोबाइल फोन, दो हजार रुपये और मेडिकल रिपोर्ट के कागजात थे. छात्रा ने यूनिवर्सिटी पुलिस चौकी पर पहुंच कर पुलिस को इसकी जानकारी दी थी लेकिन पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया. यदि पुलिस इसे गंभीता से लेती तो गुरुवार सुबह प्रोफेसर सुषमा पांडेय के साथ हुई लूट की घटना नहीं हो पाती. इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि शहर में पुलिसिंग व्यवस्था कैसे चल रही है.

वर्जन

घटना की जानकारी है. पुलिस मौके पर पहुंची थी. मामले की जांच चल रही है. यूनिवर्सिटी की तरफ गश्त बढ़ा दी गई है. जल्द ही बदमाश पुलिस की गिरफ्त में होंगे.

- चंद्रभान सिंह, इंस्पेक्टर कैंट