प्रयाग संगीत समिति में अब सिर्फ सांस्कृतिक कार्यक्रमों को ही अनुमति

Mehta auditorium के renovation को लेकर लिया गया निर्णय

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: प्रयाग संगीत समिति का मेहता ऑडिटोरियम अब सिर्फ सांस्कृतिक गतिविधियों के आयोजन के लिए ही उपलब्ध रहेगा. आडिटोरियम में होने वाली परिचर्चा, गोष्ठी और राजनीतिक कार्यक्रमों पर बैन लगा दिया गया है. यह व्यवस्था करीब तीन महीने बाद ही लागू हो सकेगी. क्योंकि, संगीत समिति प्रशासन ने नए सिरे से मेहता आडिटोरियम को भव्य स्वरूप देने की योजना बनाई है.

मुंबई की फर्म से किया गया संपर्क

आडिटोरियम में लाखों की लागत से स्पेशल साउंड सिस्टम लगाया जाएगा. इसके लिए मुम्बई की एक फर्म से सम्पर्क किया गया है. फर्म के अधिकारी ने तीन दिन पहले आडिटोरियम का निरीक्षण कर प्रस्ताव समिति प्रशासन को सौंपी है. संगीत समिति के अध्यक्ष डॉ. मिलन मुखर्जी ने बताया कि आडिटोरियम में होने वाले आयोजनों में आयोजक साफ-सफाई जैसी मूलभूत सुविधाओं की अनदेखी करते हैं. जबकि आयोजन कराने के लिए उनसे शुल्क नहीं लिया जाता है.

कई सुविधाओं पर होगा काम

डॉ. मुखर्जी ने बताया कि समिति में हाई क्वालिटी साउंड सिस्टम न होने से मधुर गीत संगीत का आनंद शहरी नहीं उठा पाते हैं. फर्म के प्रस्ताव को कार्यकारिणी की बैठक में रखा जाएगा. वहां से मंजूरी मिलने के बाद आडिटोरियम में स्पेशल साउंड सिस्टम सहित कई सुविधाओं का काम कराया जाएगा. इसके बाद नए सिरे से बनने वाले आडिटोरियम में सिर्फ सांस्कृतिक आयोजनों को ही अनुमति दी जाएगी.

प्रस्ताव तैयार है. कार्यकारिणी की अनुमति के बाद ऑडिटोरियम में कई काम कराए जाएंगे और आगे सिर्फ सांस्कृतिक आयोजनों को ही अनुमति दी जाएगी.

डॉ. मिलन मुखर्जी, अध्यक्ष, संगीत समिति