सॉफ्टबैंक है फ्लिपकार्ट का सबसे बड़ी हिस्‍सेदार
टोकियो/नई दिल्‍ली (एएफपी/पीटीआई)।
भारतीय कंपनी फ्लिपकार्ट को अमेरिकी रिटेल दिग्‍गज वालमार्ट खरीदेगा। इस सौदे की पुष्टि सॉफ्टबैंक के सीईओ मासायोशि सोन ने की है। उन्‍होंने कहा कि पिछली रात फ्लिपकार्ट बेचने पर अंतिम रूप से फैसला ले लिया गया। सॉफ्टबैंक फ्लिपकार्ट की सबसे बड़ी हिस्‍सेदार है। इस कंपनी की ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट में 20 फीसदी हिस्‍सेदारी है।

15 अरब डॉलर में हो सकता है यह बड़ा सौदा
सूत्र बता रहे हैं कि वालमार्ट करीब 15 अरब डॉलर देकर फ्लिपकार्ट में बड़ी हिस्‍सेदारी खरीदेगा। पहले उम्‍मीद की जा रही थी कि बुधवार की दोपहर बाद सौदे की आधिकारिक रूप से घोषणा होगी। फ्लिपकार्ट के सबसे बड़े साझीदार सॉफ्टबैंक ने इसकी पुष्टि भी कर दी। फ्लिपकार्ट या वालमार्ट दोनों कंपनियों की ओर से अभी कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।

80 फीसदी तक बिकेगी फ्लिपकार्ट की हिस्‍सेदारी
फ्लिपकार्ट के सबसे बड़े हिस्‍सेदार जापान के सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प और टाइगर ग्‍लोबल मैनेजमेंट ने कहा कि उन्‍होंने अपने 20-20 फीसदी की पूरी हिस्‍सेदारी बेच रहे हैं। सूत्र बता रहे हैं यदि सब ठीक रहा तो अमेरिकी कंपनी वालमार्ट भारतीय कंपनी फ्लिपकार्ट की 60 से 80 फीसदी हिस्‍सेदारी खरीद लेगा। फ्लिपकार्ट का मूल्‍य 20 अरब डॉलर से ज्‍यादा बताई जा रही है।

Flipkart-Walmart Deal अंतिम दौर में, जानें फ्लिपकार्ट बिकने से ग्राहकों को फायदा या नुकसान

दो आईआईटियन फ्रेंड्स ने क्रिएट किया फ्लिपकार्ट को, एक कमरे से की थी काम की शुरुआत

वॉलमार्ट ने भारत में दी थी करोड़ों डॉलर की रिश्‍वत

Business News inextlive from Business News Desk