- शाहपुर एरिया के पादरी बाजार मोहल्ले की घटना

GORAKHPUR: शाहपुर एरिया के जंगल सालिकराम मोहल्ला निवासी टेंट कारोबारी के बेटे ने प्लास्टिक की रस्सी का फंदा बनाकर जान गंवा दी। चार साल पूर्व उसके बड़े भाई ने भी खुदकुशी करके जान गंवा दी थी। श्रीराम चौराहा निवासी अजय गुप्ता का मयूर टेंट हाउस के नाम से टेंट का बड़ा काम है। अजय की पहली पत्‍‌नी की करीब 10 साल पहले मौत हो गई। इसके बाद उन्होंने दोबारा शादी कर ली। उनकी पहली पत्‍‌नी से तीन बेटे थे। दूसरी पत्‍‌नी से एक बेटा और बेटी हुई। अजय के बड़े बेटे अमन ने चार साल पूर्व खुदकुशी कर ली थी। सोमवार की शाम उनका दूसरे नंबर का बेटा अमृत भोजन करके सोए। सुबह उसे फंदे से झूलते देख परिजन आनन-फानन में अस्पताल ले गए। डॉक्टरों ने युवक को डेड बताया। लोगों ने पुलिस को बताया कि 20 साल का अमृत पढ़ने में काफी होशियार था। 10वीं तक पढ़ाई करने के बाद पिता ने उसे बिजनेस में लगा दिया। किसी बात को लेकर परिवार में भी कलह थी। लेकिन अमृत की खुदकुशी की वजह सामने नहीं आ सकी।