- मौका ए वारदात पर पुलिस ने दोहराया क्राइम सीन

- कई थानों की फोर्स के साथ एसपी गंगापार पहुंचे बिहगिया गांव

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: सोरांव के बिगहिया गांव में एक परिवार के चार लोगों की नृशंस हत्या के मामले के दूसरे दिन पुलिस के हाथ खाली रहे. पुलिस अधिकारियों ने मौका ए वारदात पर क्राइम सीन के जरिए हत्याकांड को समझने का प्रयास भी किया. एसपी गंगा, क्राइम ब्रांच की टीम सहित कई थानों की फोर्स के साथ शनिवार को गांव में डेरा डाले रहे. उन्होंने आसपास के लोगों से पूछताछ भी की. आसपास के गांव के अपराधी और बदमाशों को पुलिस ने उठाकर इन्वेस्टिगेशन शुरू कर दी है.

घटना ने उड़ा दी पुलिस की नींद

बता दें कि गुरूवार की देर रात बिगहिया गांव के कमलेश देवी, बेटी रिंकी, दामाद प्रताप नारायण मिश्र व सात के बेटे विराट की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी. पुलिस यह सच पता लगाने में जुटी है कि वाकई बदमाशों इस हत्याकांड को लूट के इरादे से घटना को अंजाम दिया या फिर इसके पीछे कोई और वजह है. पुलिस को मौका ए वारदात घर के काफी सामान बिखरे मिले थे. पुलिस का मानना है कि लूट की जगह गुमराह करने की कोशिश की गई है. पुलिस टीम ने कमलेश देवी के घर के अलमीरा और बक्सों को खंगाला और दस्तावेजों में वसीयत आदि तलाशने की कोशिश की. मगर कोई सुराग हाथ नही लगा.

रिश्तेदारों से जारी पूछताछ

पुलिस ने कमलेश देवी के रिश्तेदारों के घर छापामारी तेज कर दी और कई लोगों को पूछताछ के लिए उठाकर थाने भी ले आई. वहीं मृतका की दोनों बेटियों प्रिया और काजल के ससुराल वालों से पूछताछ शुरू कर दी है. पुलिस ने दोनों दामादों के बयान दर्ज किए और संपत्ति विवाद पर सवाल भी किए. जेठ के परिवार वालों से से भी पूछताछ की गई. इसी क्रम में पुलिस ने सोरांव के अलावा होलागढ़, मऊआइमा, थरवई व बहरिया थाना क्षेत्रों के पुराने बदमाशों के यहां दबिश देकर उनसे पूछताछ कर रही है. सीओ सोरांव जितेन्द्र गिरी का कहना है कि खुलासे के लिए कई पुलिस टीमों को लगाया गया है. जल्द ही सफलता हाथ लगेगी.

आरोपितों व मृतकों के रिश्तेदारों का बयान दर्ज किया गया है. पुलिस कई बिंदुओं पर जांच कर रही है. कई को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है.

नीतिन तिवारी, एसएसपी