सिओल (रॉयटर्स)। दक्षिण कोरियाई अदालत ने शुक्रवार को सरकारी फंड के नुकसान और 2016 के संसदीय चुनाव में हस्तक्षेप के आरोप में पूर्व राष्ट्रपति पार्क ग्यून-हे को दोषी करार दिया है। अदालत ने उन्हें इस मामले में आठ साल की सजा सुनाई है। बता दें कि पार्क अपने पद का दुरुपयोग और भ्रष्टाचार करने के चलते पहले से ही जेल में 24 वर्षों की सजा काट रही हैं। इसके अलावा पार्क के इस करतूत के चलते उनपर अप्रैल में निचली अदालत ने लाखों रुपये का फाइन भी लगाया गया है।

32 लाख डॉलर रिश्वत के रूप में दिए थे
बता दें कि दक्षिण कोरियाई अदालत ने पिछले महीने ही तीन पूर्व खुफिया प्रमुखों को साढ़े तीन साल की सजा सुनाई। उन्हें पूर्व राष्ट्रपति पार्क ग्यून-हे को करोड़ों रुपये की रिश्वत देने के आरोप में दोषी ठहराया गया। स्थानीय मीडिया के अनुसार, राष्ट्रीय खुफिया सेवा (एआइएस) के पूर्व प्रमुखों ली बाइउंग-की, ली बाइउंग-हो और नाम जे-जून ने 2013 से 2016 के बीच तत्कालीन राष्ट्रपति पार्क को करीब 32 लाख डॉलर (लगभग 22 करोड़ रुपये) दिए थे जबकि इस धन का उपयोग खुफिया जानकारी जुटाने में किया जाना था।

पूर्व राष्ट्रपति की बेटी हैं
पार्क दक्षिण कोरिया के पूर्व राष्ट्रपति पार्क चुंग-ही की बेटी हैं। उनके पिता 1963 से लेकर 1979 तक राष्ट्रपति रहे। पद पर रहते उनकी हत्या कर दी गई थी। पार्क साल 2013 में दक्षिण कोरिया की पहली महिला लोकतांत्रिक राष्ट्रपति चुनी गई थीं। पद पर रहने के चार साल बाद वह भ्रष्टाचार के आरोपों में घिर गई। पूरे देश में उनके खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए। इसके बाद संसद में उन पर महाभियोग चलाया गया।

दक्षिण कोरिया में तीन पूर्व खुफिया प्रमुखों को जेल, राष्ट्रपति को दी थी 22 करोड़ घूस

स्‍कैंडल जिन्‍होंने पूरे विश्‍व में बटोरी सुर्खियां

International News inextlive from World News Desk