नई दिल्ली/देहरादून (आईएएनएस)| आज मिश्रित बायोफ्यूल के साथ विमानन टरबाइन ईंधन (एटीएफ) के मिश्रण से लैस स्पाइसजेट के क्यू400 विमान ने देहरादून से दिल्ली के लिए उड़ान भरी। यह देश की पहली परीक्षण उड़ान का सफलतापूर्वक परिचालन था। वहीं इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे के टर्मिनल 2 पर इस विमान की अगवानी के लिए प्रमुख कैबिनेट मंत्री और विमानन कंपनी के शीर्ष प्रबंधन के सदस्य मौजूद थे। इस दौरान मौजूद केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी आैर सुरेश प्रभु ने इस खास पहल की सराहना की। नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि सरकार 2035 तक पर्यावरण अनुकूल विमानन कार्य योजना बनाएगी।

मंत्रियों ने की सराहना
इसके साथ ही यह भी कहा कि यह सफलता इसलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि एटीएफ की अधिक कीमत होने के कारण 2018-19 की पहली तिमाही में भारतीय विमानन क्षेत्र की सभी दिग्गज कंपनियां घाटा होने की बात कह रही हैं। ईंधन कीमत घरेलू विमानन की कुल परिचालन लागत का 50-55 प्रतिशत है। भारत की एटीएफ कीमतें राज्य लेवी और करों के अतिरिक्त होने के कारण दुनिया में सबसे ज्यादा हैं। वहीं सफल परिचालन के बाद सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मीडिया को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि एटीएफ के साथ बायोफ्यूल का मिश्रण करने की नीति, उपयोग और मानकीकरण को जल्द तैयार किया जाएगा।

 शुरू होगी नई फ्लाइट, और टाइट होगी सिक्योरिटी

चांद पर जमीन लेने के बाद सुशांत खरीदना चाहते हैं प्लेन, घर पर ही ऐसे सीख रहे विमान उड़ाना

 शुरू होगी नई फ्लाइट, और टाइट होगी सिक्योरिटी

National News inextlive from India News Desk