JAMSHEDPUR: मानगो सुंदरवन फेज टू तुलसी ब्लॉक के डुप्लेक्स में पकड़े गए सट्टेबाज के आरोपी परवेज अहमद को बुधवार को पुलिस ने मीडिया के सामने किया. एसएसपी अनूप बिरथरे ने बताया कि आरोपी से सट्टेबाजी लिंक के संबंध में कई अहम जानकारियां मिलीं है. उनकी सच्चाई जानने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने बताया कि परवेज अहमद के लिंक दिल्ली और नागपुर के लोगों के साथ जुड़े है. उन्होंने संभावना जताते हुए कहा कि आरोपी संभवत: 2013 से ही आइपीएल सट्टेबाजी में सक्रिय रहा है और जमशेदपुर में संचालित करता रहा है. दिल्ली के सट्टेबाज का नाम डैडी बताया गया है.

एसएसपी ने बताया कि मामला परत दर परत खुलता जा जा रह है. जिसमें आरोपियों द्वारा शह के अन्य लोगों के सटटेबाजी में संलिप्त होने की जानकारी मिल सकती है. प्रदेश में सट्टेबाजी के मामले में ये सबसे बड़ी गिरफ्तारी है. परवेज अहमद के खिलाफ मानगो थाने में लाटरी विनियमन अधिनियम और आइटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.

हवाला के जरिए भुगतान

एसएसपी ने बताया कि परवेज अहमद से जानकारी मिली कि दिल्ली और नागपुर के जिन सट्टाबाज कारोबारियों के वह संपर्क मे था. वे लोग सप्ताह और या महीने में जमशेदपुर आकर परवेज से रुपये ले जाते थे, लेकिन कड़ाई से पूछताछ होने पर उसने बताया कि हवाला के जरिए रुपये का भुगतान होता हैं.

तकनीक के सहारे चल रहा सट्टा

परवेज अहमद ने पुलिस को जहां शहर में सक्रिय दूसरे सट्टेबाज का नाम बताएं है. वहीं जुगसलाई, मानगो, बिष्टुपुर, साकची, कदमा, सोनारी, टेल्को समेत कई इलाके के गली-मुहल्लों में सट्टाबाजी होने की जानकारी दी है. बताया कि सट्टेबाजी अब तकनीक के सहारे हो रहे है. मोबाइल और टैब का इस्तेमाल किया जा रहा है. इससे सट्टेबाजों की पहचान गुप्त रहती है. उसने बताया कि शहर में सट्टा लगाने का कारोबार नया नही है, लेकिन हर बार किसी न किसी तरह सट्टाबाजी में शामिल लोग पुलिस के हत्थे चढ़ जाते है. उसने बताया कि हर साल आईपीएल शुरु होते ही शहर के सट्टाबाज सक्रिय हो जाते है. जैसे-जैसे फाइनल करीब आ रहा है स्टोरी रेट लेना-देना शुरु कर देते है.

आनलाइन और वाट्सएप के माध्यम से भी होता सट्टा

एसएसपी ने बताया कि परवेज अहमद ने बताया कि वॉट्सएप के साथ-साथ आनलाइन वेबसाइट्स पर सट्टे के दाम चलते हैं. मैच ग्राउंड से लेकर सट्टेबाज तक हर सेकेंड की अपडेट पर यह एप्लीकेश्न सट्टा लगाने की पूरी सुविधा देती है. जिसका इस्तेमाल सटोरिए कर रहे हैं.

जब्त रुपए व सामान

पुलिस बरामदगी में 26 लाख 43 हजार 600 रुपये नगद, 390 ग्राम सोना का जेवरात, 13 मोबाइल फोन, दो लैपटॉप, एक टैबलेट, स्कार्पियो वाहन, तीन एटीएम, परवेज अहमद के नाम से बना पासपोर्ट, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस.